संकट में दार्जिलिंग चाय उद्योग, अतिरिक्त वित्तीय पैकेज की मांग

Daily news network Posted: 2017-12-07 00:47:23 IST Updated: 2017-12-07 00:47:23 IST
संकट में दार्जिलिंग चाय उद्योग, अतिरिक्त वित्तीय पैकेज की मांग
  • केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय ने व्यय विभाग से दार्जिलिंग के संकटग्रस्त चाय उद्योग को मदद पहुंचाने के लिए अतिरिक्त वित्तीय सहायता पहुंचाने की मांग की है।

केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय ने व्यय विभाग से दार्जिलिंग के संकटग्रस्त चाय उद्योग को मदद पहुंचाने के लिए अतिरिक्त वित्तीय सहायता पहुंचाने की मांग की है।

दार्जिलिंग चाय उद्योग को उत्तरी बंगाल की पहाडिय़ों में अनिश्चितकालीन बंद की वजह से काफी नुकसान हुआ है।

दार्जिलिंग आंदोलन की वजह से दार्जिलिंग के 87 बागानों में चाय पत्ती तोडऩे और चाय उत्पादन और चाय का लगभग 70 फीसदी वार्षिक उत्पादन तीन महीने से ठप पड़ा है।

केंद्रीय वाणिज्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव संतोष सारंगी ने कहा, 'उद्योग को बाहरी कारकों की वजह से भारी नुकसान उठाना पड़ा है। इस संदर्भ में हमें दार्जिलिंग चाय संघ (डीटीए) और भारतीय चाय संघ (आईटीए) से प्रस्ताव मिले हैं, जिन्हें चाय बोर्ड ने संग्रहित किया और हमें भेजा।'

उन्होंने कहा, 'हमने व्यय विभाग से अतिरिक्त वित्तीय सहायता की मांग की है और हम इस उद्योग की मदद के लिए विभाग के साथ मिलकर काम करेंगे।'

उन्होंने स्पष्ट किया कि यह प्रस्तावित वित्तीय सहायता प्रस्ताव उद्योग के पुनर्निर्माण के लिए है, जो बागानों के लिए जरूरी है।