प्रशासन की आखों के सामने, खुले आम चल रहा है धंधा

Daily news network Posted: 2018-01-07 17:52:53 IST Updated: 2018-01-07 17:52:53 IST
  • आधार कार्ड नामांकन केंद्र द्वारा आवेदकों को बिना किसी रुकावट तथा परेशानी से आईडी बनवाने की सरकार द्वारा दिए गए निदेश के बावजूद धन वसूले जाने को खबर आमने आई है । प्राप्त जानकारी के मुताबिक अरुणाचल की राजधानी इटानगर और बंदरदेवा में यह धंधा खुलेआम चल रहा है ।

अरुणाचल

आधार कार्ड नामांकन केंद्र द्वारा आवेदकों को बिना किसी रुकावट तथा परेशानी से आईडी बनवाने की सरकार द्वारा दिए गए निदेश के बावजूद धन वसूले जाने को खबर आमने आई है । प्राप्त जानकारी के मुताबिक अरुणाचल की राजधानी इटानगर और बंदरदेवा में यह धंधा खुलेआम चल रहा है । प्रशासन को आंखों के सामने व्यक्तिगत रूप से खोले गए केंद्रो में यह कारोबार चलने की बात उजागर हुई है ।





प्राप्त खबरों के अनुसार आधार कार्ड के लिए व्यक्तिगत रूप से खोला गया केंद्र एक बंदरदेवा और अन्य एक इटानगर में चल रहा है । इन केंद्रों में आधार नामांकन तथा अपडेट के नाम पर आवेदकों से 350 -400 रुपए उगाही किए जाने का आरोप लगाया जा रहा है । इस बात को लेकर केंद्र के अधिकारी बताते है कि आधार कार्ड की नामांकन प्रक्रिया तथा इलेक्ट्रानिक्स सामग्री मरम्मत के कारण लोगों से रुपए वसूले जा रहे हैं । 




प्रशासनिक कार्यालय से जारी निर्देश में बताया गया है कि किसी भी एजेंसी द्वारा नामांकन प्रक्रिया के लिए रकम वसूल नहीं किया जा सकता है लेकिन आधार कार्ड नामांकन के लिए 350 -400 रुपए वसूले जाने को गलत बताया गया है । 






उल्लेखनीय है कि बंदरदेबा शहर में खोले गए एक केंद्र में सिर्फ अरुणाचल प्रदेश के ही नहीं असम के धेमाजी, लखीमपुर, जोरहाट, नगांव, शोणितपुर और माजुली से भी लोग आकर आधार कार्ड बनवा रहे है, जिसको लेकर प्रशासन की चुप्पी से स्थानीय जागरूक लोग काफी चिंतित है ।