Ad Block is Banned Click here to refresh the page

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करे

करारी हार पर अखिलेश का तंज, जनता शायद बुलेट ट्रेन चाहती है

Patrika news network Posted: 2017-03-11 18:31:27 IST Updated: 2017-03-11 18:31:27 IST
करारी हार पर अखिलेश का तंज, जनता शायद बुलेट ट्रेन चाहती है
  • यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा के हाथों करारी हार झेलने के बाद निर्वतमान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा है कि जनता शायद यूपी में बुलेट ट्रेन चाहती है।

लखनऊ।

यूपी विधानसभा चुनाव में भाजपा के हाथों करारी हार झेलने के बाद निर्वतमान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए कहा है कि जनता शायद यूपी में बुलेट ट्रेन चाहती है। अखिलेश ने हार का कारण बताने की बजाय तंज कसते हुए कहा,मुझे लगता है कि  जनता हमसे भी अच्छा काम चाहती है। शायद उन्हें एक्सप्रेस वे पसंद नहीं आया और लगता है कि वे बुलेट चाहते हैं। उम्मीद है कि यूपी में बुलेट ट्रेन आएगी। 

हमने किसानों का 1600 करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया था। मैं समझता हूं कि सूबे के सभी किसानों का कर्ज अब माफ हो जाएगा। पीएम नरेन्द्र मोदी के किसानों की कर्ज माफी के वादे पर कटाक्ष करते हुए अखिलेश ने कहा, पीएम मोदी ने कैबिनेट की पहली बैठक में किसानों के कर्ज माफ करने की बात कही थी। उम्मीद है ऐसा होगा। प्रधानमंत्री ने कहा है तो पूरे देश के किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा। जनता का फैसला हमें पूरी खुशी के साथ स्वीकार है। चुनाव में साथ खड़े रहे नेताओं और कार्यकर्ताओं का धन्यवाद देता हूं। हमने 5 साल में काम करने का प्रयास किया। उम्मीद है कि आने वाले 5 साल में नई सरकार समाजवादी पार्टी से भी बेहतर काम करेगी। 

अखिलेश ने कहा,हमने लोगों को अपनी योजनाओं के बारे में खूब समझाया लेकिन लगता है कि कभी कभी लोकतंत्र में समझाने की बजाय बहकाने से वोट मिल जाते हैं। मैं समझता हूं कि पहली ही कैबिनेट में किसानों का कर्ज माफ हो जाएगा। शायद बुलेट ट्रेन आएगी। 2019 के लोकसभा चुनावों की तैयारियों को लेकर अखिलेश ने कहा कि पहले कैबिनेट के फैसले आ जाने दीजिए। 2019 तो अभी दूर है। अखिलेश ने कहा,चुनाव के आखिरी दौर में कुशीनगर से एक विकलांग लड़की आई थी। मैंने पूछा कि मैं क्या मदद कर सकता हूं तो उस लड़की ने सिर्फ 20 हजार रुपए मांगे। कई बार गरीब को पता नहीं होता कि उन्हें क्या मिलने जा रहा है। लोगों ने बताया कि बैंकों में आया अमीरों का पैसा गरीबों को मिलेगा,मैं देखना चाहता हूं कि कितना पैसा मिलेगा। 

अखिलेश ने बसपा सुप्रीमो मायावती की ओर से ईवीएम पर सवाल खड़े किए जाने पर कहा,मैं मानता हीं कि अगर बसपा नेता ने ईवीएम पर कोई सवाल उठाया है तो इस पर सरकार को सोचना चाहिए। मैं बूथ का विश्लेषण करने के बाद अपनी बात रखूंगा। अगर सवाल उठा है तो सरकार को इसकी जांच करा लेनी चाहिए। कांग्रेस के साथ गठबंधन से हमें फायदा हुआ है और यह भविष्य में भी जारी रहेगा। खुशी है कि कांग्रेस के साथ गठबंधन रहा और दो युवा नेता साथ आए। 

अखिलेश यादव हार की जिम्मेदारी लेने से बचते दिखाई दिए। उन्होंने कहा कि हार की समीक्षा करूंगा। समीक्षा के बाद ही हार की जिम्मेदारी लूंगा। सीएम भी मैं था और राष्ट्रीय अध्यक्ष भी,इसलिए समीक्षा करूंगा और जिम्मेदारी बनती है तो लूंगा। अखिलेश यादव ने कहा,पूरे चुनाव में मुझे नहीं लगा कि हमारी यह स्थिति हो सकती थी। मैं सोच नहीं पा रहा हूं कि सभाओं जो लोग आए थे वे क्या करने आए थे। क्या वे सिर्फ देखने आए थे। हम देखना चाहते हैं कि समाजवादियों से भी अच्छा काम क्या होगा। कई क्षेत्रों में हमें वोट पहले से ज्यादा मिला है लेकिन उसके बाद भी कुछ लोग हार गए।