आने वाले एक साल में एनसीईआरटी की सभी किताबें होंगी ऑनलाइन

Daily news network Posted: 2017-02-13 17:12:01 IST Updated: 2017-02-13 17:12:01 IST
आने वाले एक साल में एनसीईआरटी की सभी किताबें होंगी ऑनलाइन
  • एनसीईआरटी की ओर से विद्यालयों में पढ़ाया जाने वाले पाठयक्रम को अब विद्यार्थी ऑनलाइन भी पढ़ सकेंगे। इसको लेकर एनसीईआरटी ने कवायद शुरू कर दी है, जिसके चलते आने वाले एक साल में सभी विद्यालयों में एनसीईआरटी अपने पाठयक्रम को ऑनलाइन कर देगी।

जयपुर।

एनसीईआरटी की ओर से विद्यालयों में पढ़ाया जाने वाले पाठयक्रम को अब विद्यार्थी ऑनलाइन भी पढ़ सकेंगे। इसको लेकर एनसीईआरटी ने कवायद शुरू कर दी है, जिसके चलते आने वाले एक साल में सभी विद्यालयों में एनसीईआरटी अपने पाठयक्रम को ऑनलाइन कर देगी।

इसके पीछे एनसीईआरटी का मानना है कि आने वाला युग डिजिटल एज्यूकेशन का है और काउंसिल भी इस पर काम कर रही है। आने वाले एक साल में एनसीईआरटी का पूरा कंटेंट ऑनलाइन कर दिया जाएगा। 

हालांकि एनसीईआरटी ने भी अपने पाठयक्रम को ऑनलाइन पढऩे की सुविधा दी हुई है, लेकिन अभी एनसीईआरटी की ओर से तैयार पूरा पाठयक्रम ऑनलाइन पढऩे की सुविधा नहीं है और अभी कुछ ही कंटेंट को ऑनलाइन हैं। 

एनसीईआरटी की बहुत से किताबें ऐसी हैं, जिन्हें फिलहाल ऑनलाइन नहीं किया है और एनसीईआरटी इसी पर काम कर रहा है, जिसके चलते आगामी एक साल में एनसीईआरटी का सारा कंटेंट ऑनलाइन हो जाएगा। 

नेशनल काउंसिल फॉर एज्यूकेशन रिसर्च एंड ट्रेनिंग (एनसीईआरटी) के निदेशक डॉ. ऋषिकेश सेनापथी के अनुसार इस पर काम किया जा रहा है क्योंकि आज के दौर में तकनीक पर आधारित शिक्षा प्रचलन में है। 

दशक दर दशक इसमें बदलाव आता जा रहा है। आने वाले समय में जरूरत होगी कि बच्चों को एक ऐसा लर्निंग एन्वायरमेंट दिया जाए, जिसमें वह खुद सीख सके। उन्हें क्या पढऩा है और कैसे पढऩा है ये भी वो खुद ही तय करें।