असम: एमपी ज्वैलर्स के शो रूम में करोड़ों की डकैती के मामले में 3 और गिरफ्तार

Daily news network Posted: 2017-09-13 17:26:08 IST Updated: 2017-09-13 17:26:08 IST
असम: एमपी ज्वैलर्स के शो रूम में करोड़ों की डकैती के मामले में 3 और गिरफ्तार
  • गुवाहाटी की व्यस्त जीएस रोड पर स्थित एमपी ज्वैलर्स के शो रूम में करोड़ों की डकैती के मामले में तीन और लोगों को गिरफ्तार किया गया

गुवाहाटी।

गुवाहाटी की व्यस्त जीएस रोड पर स्थित एमपी ज्वैलर्स के शो रूम में करोड़ों की डकैती के मामले में तीन और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने पार्किंग एरिया के तीन वर्कर्स को गिरफ्तार किया है। इनमें पार्किंग का मालिक भी शामिल है। गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अंबारी के हुसैन, सामसुल अली और उत्तम देव(पार्किंग का मालिक) के रूप में हुई है।


पुलिस ने पार्किंग एरिया से उस कार को बरामद किया है जिसका इस्तेमाल डकैती की वारदात में हुआ था। पुलिस ने सभी को 5 दिन की कस्टडी में लिया है। आपको बता दें कि डकैती की वारदात में शामिल मणिपुर के तीन उग्रवादियों को सोमवार को सिलीगुड़ी से गिरफ्तार किया गया था। तीनों ने अपना अपराध भी कबूल लिया है। गिरफ्तार किए गए उग्रवादियों में केसीपी गुट का चेयरमैन सेनजाम नोतेंकखोम्बा सिंह शामिल है। उसके दो साथियों की पहचान लईश्रम इबमुगोमतोम्बा सिंह और राजेश सिंह के रूप में हुई है।


गिरफ्तार उग्रवादियों के पास से दो गन बरामद हुई थी। गुवाहाटी के पुलिस कमिश्नर हिरेन चंद्र नाथ ने बताया कि सभी को उस वक्त पकड़ा गया जब वे सिलीगुड़ी में पीसी ज्वैलर्स की दुकान में लूट की वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। लोगों ने उन्हें पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। जब उन्हें ज्वैलरी के शो रुम में घुसने से रोकने की कोशिश की गई तो उग्रवादियों ने सिक्योरिटी गार्ड पर फायरिंग की लेकिन स्थानीय लोगों ने उन्हें पकड़ लिया और बुरी तरह पिटाई की।


बकौल नाथ लोगों ने इतना पीटा कि वे बुरी तरह घायल हो गए। पूछताछ के दौरान सेनजाम ने खुलासा किया कि उसने तीन साथियों के साथ एमपी ज्वैलर्स के शो रूम में लूट की वारदात को अंजाम दिया था। बकौल नाथ, केसीपी के तीन गुट हैं और सानजेम सिंह खुद को इनमें से एक का चेयरमैन बताता है। वह पहले भी तीन बार गिरफ्तार हो चुका है। दो बार इंफाल में और एक बार शिमला में। वह 2003 से 2013 तक जेल में रहा। जेल से बाहर आने के बाद उसने लूट की कई वारदातों को अंजाम दिया। वह अपने परिवार के साथ फिलहाल नेपाल में रहता है।


इसी ग्रुप ने 27 अगस्त को कोलकाता के सॉल्ट लेक स्थित एक ज्वैलरी में दिनदहाड़े करीब 3 बजे लूट की वारदात को अंजाम दिया था। दोनों मामले एक जैसे थे इसलिए गुवाहाटी पुलिस और कोलकाता पुलिस ने संयुक्त जांच शुरू की। बकौल नाथ, नकाब पहने चार लोग 9 मई को एमपी ज्वैलर्स के शो रुम में घुसे जो व्यस्त जीएस रोड पर स्थित है। उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग की और करीब 3.5 करोड़ की ज्वैलरी लूट ली। 9 मई को सेनजाम नेपाल से आया और तीन मणिपुर से आए। वे यहां इंटर स्टेट बस टर्मिनस पर मिले। इसके बाद वे जीएस रोड पर आए। सेनजाम पहले भी कई बार गुवाहाटी आ चुका था इसलिए उसे शहर के बारे में अच्छी जानकारी थी। उसने एमजी ज्वैलर्स को उसकी लोकेशन के आधार पर डकैती के लिए चुना। शोरुम में डकैती के बाद उन्होंने पलटन बाजार रेलवे स्टेशन के लिए ऑटो रिक्शा लिया और वे सिलीगुड़ी के जरिए नेपाल भाग गए। काठमांडू में उन्होंने एमपी ज्वैलर्स से लूटा हुआ सामान 12 लाख रुपए  में पांच अलग अलग दुकानों को बेच दिया।