एक दर्शन, एक मिशन तथा एक लक्ष्य की नीति अपनाने की मुंख्यमंत्री की अपील

Daily news network Posted: 2017-12-08 14:01:57 IST Updated: 2017-12-08 14:01:57 IST
एक दर्शन, एक मिशन तथा एक लक्ष्य की नीति अपनाने की मुंख्यमंत्री की अपील
  • नगालैंड के मुख्यमंत्री टीआर जेलियांग ने नगा राजनीतिक समस्या का जल्द से जल्द स्थाई समाधान खोज निकालने के लिए सभी से एक दर्शन, एक मिशन तथा एक लक्ष्य की निति अपनाने का आग्रह क्रिया है।

नगालैंड

डिमापुर । नगालैंड के मुख्यमंत्री टीआर जेलियांग ने नगा राजनीतिक समस्या का जल्द से जल्द स्थाई समाधान खोज निकालने के लिए सभी से एक दर्शन, एक मिशन तथा एक लक्ष्य की निति अपनाने का आग्रह क्रिया है। 






कोहिमा के आरसीईएमपीए -जोतसोमा में नगा राजनीतिक विषय पर पूर्व सासंदों के साथ नगालैंड विधायक मंच की आज हुई एक बैठक में हिस्सा लेते हुए उन्होंने  यह बाते कही।  सात दशक पुरानी इस समस्या का हल निकालने के संदर्भ में वर्तमान समय की नगा लोगों एवं केद्र सरकार के लिए सबसे सही समय बताते हुए उन्होंने कहा कि यह विषय हमेशा से  सरकार व तमाम राजनीतिक पार्टियों के लिए प्रमुख विषय बना हुआ  हैं। 





इस ससमस्या का हल निकालने के संदर्भ में  गिरजाघरों, नागरिक सोसाइटियों तथा अन्य संगठनों के अथक प्रयास की सराहना करते हुए मुख्यमंत्री  जेलियांग ने कहा कि उनके ही सहयोग के कारण नगालेंलैंड सरकार ने इस विषय को सर्वोच्य  प्राथमिकता का दर्जा दिया हुआ है। 



हाल ही में केंद्र सरकार के साथ 6 एनएनपीजी  सदस्यों की हुई वार्ता को सकारात्मक बताते हुए उन्होंने कहा कि राज्य में सभी पक्षों को एक मंच पर लाने का श्रेय निश्चय ही द ट्राइबल होहो एवं इसके प्रमुख सगठनों, गिरजाघरों सिविल सोसाइटियों, विभिन्न संगठनों व एनएनपीजी के सदस्यों को ही जाता है।  



गौरतलब है कि हाल ही में मुख्यमंत्री जैलियागं के नेतृत्व में उनके केबिनेट के सभी सदस्य आगामी विस  चुनाव के मद्देनजर नगा राजनीतिक समस्या के जल्द से जल्द हल हेतु नई तिल्ली गए हुए थे. हालांकि  हिमाचल प्रदेश एवं गुजरात चुनाव के मद्देनजर प्रधानमंत्री के व्यस्त कार्यक्रम के कारण वे प्रधानमंत्री से नहीं मिल सके थे ।



 मुख्यमंत्री के नेतृत्व में गई टीम ने तब केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह, डोनर मंत्री  जीतेन्द्र सिंह, राष्ट्रीय सुरक्षा रालाहकार अजीत दोभाल, उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार सह नगा शांति वार्ता में मध्यस्थ आरएन रवि, प्रधानमंत्री के सचिव भाष्कर खुल्बे, एनएससीएन (अाईएम) के नेता टी. मुइवा आदि से मुलाकात की थी।