अरुणाचल की सधी हुई गेंदबाजी के बाद अर्णव के शतक से संभला बिहार

Daily news network Posted: 2017-12-08 11:26:15 IST Updated: 2017-12-08 11:26:15 IST
अरुणाचल की सधी हुई गेंदबाजी के बाद अर्णव के शतक से संभला बिहार

अरुणाचल प्रदेश

विजय मर्चेट ट्रॉफी अंडर-16 क्रिकेट के पहले मैच में अरुणाचल प्रदेश को पारी और 870 रनों से करारी शिकस्त देने वाली बिहार टीम को मणिपुर की बढि़या गेंदबाजी का सामना करना पड़ा, जिसमें उसे मिश्रित सफलता हाथ लगी।


तीन दिवसीय मैच के पहले दिन पिछले मैच में रनों का पहाड़ खड़ा करने वाले बलजीत बिहारी ओर प्रकाश बाबू सस्ते में आउट हो गए, लेकिन कप्तान अर्णव ने मौके की नजाकत को समझते हुए बल्लेबाजी की और लगातार दूसरा शतक जमाकर अपनी टीम को संभाल लिया। स्टंप के समय बिहार ने छह विकेट पर 332 रन बनाए। उस समय आदर्श कुमार 49 और सूरज कश्यप 32 रन पर खेल रहे थे।


सुबह विकेट पर नमी थी, जिसके कारण मणिपुर के कप्तान उलेनया ने टॉस जीतकर पहले क्षेत्ररक्षण करने में कोई झिझक नहीं दिखाई। जवाब में अर्णव और रितिक राजेश ने संभल कर अपनी पारी को आगे बढ़ाया। हालांकि इस बीच राजेश के कमर में उठी दर्द ने मेजबानों की बैचेनी बढ़ाई और उसे रिटायर्ड हर्ट होकर पवेलियन लौटना पड़ा।


पिछले मैच में 358 रन की पारी खेलने वाले बलजीत ने आते ही ताबड़तोड़ पांच चौके जड़े तो ऐसा लगा कि अरुणाचल प्रदेश के खिलाफ जो कसर रह गई थी उसे वह पूरा करेंगे, लेकिन तेज गेंदबाज जोटिन सिंह की नीची रहती गेंद पर बिन्नी गच्चा खा गए और 26 के योग पर वे पगबाधा का शिकार बने।


97 पर बलजीत के आउट होने के बाद जोटिन ने पिछले मैच के एक और शतकवीर प्रकाश बाबू को 13 के निजी स्कोर पर संजीत सिंह के हाथों लपकवाया। दूसरी ओर एक छोर संभाले हुए अर्णव ने अपना शतक पूरा किया, जिनकी 157 गेंदों में 14 चौके और दो छक्के से सजी 109 रन की पारी का अंत भी जोटिन सिंह ने किया। 190 पर अर्णव के आउट होने के बाद कनिष्क और अंकुश ने टीम के स्कोर को ढाई सौ के करीब पहुंचाया। 249 के स्कोर पर अंकुश को जोटिन ने बबलू यादव के हाथों लपकवाकर अपना चौथा विकेट लिया। इसके बाद उत्कर्ष जैन ने कनिष्क कौस्तुव को बोल्ड कर बिहार को पांचवां झटका दिया।


इसके बाद रिटायर्ड हर्ट हुए रितिक राजेश ने एक बार फिर मोर्चा संभाला, लेकिन आते ही उनकी पारी का अंत उत्कर्ष ने स्थानापन्न खिलाड़ी कदमजीत के हाथों उन्हें कैच कराकर किया। राजेश केवल 22 रन बना सके। उस समय बिहार का स्कोर छह विकेट पर 252 रन था। आदर्श और सूरज ने इसके बाद बगैर जुदा हुए 80 रन जोड़कर अपनी टीम को तीन सौ के पार पहुंचाया। मणिपुर की ओर से जोटिन सिंह ने चार और उत्कर्ष ने दो विकेट लिए।