खूनी ब्लू व्हेल गेम के चलते इस स्टूडेंट ने उठाया खौफनाक कदम, जानिए पूरा मामला

Daily news network Posted: 2017-09-15 10:06:17 IST Updated: 2017-09-15 11:20:20 IST
खूनी ब्लू व्हेल गेम के चलते इस स्टूडेंट ने उठाया खौफनाक कदम, जानिए पूरा मामला
  • ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल के बढ़ते खतरे के बीच असम के सिलचर में 22 साल के एक छात्र के दो मंजिला इमारत से कूदकर आत्महत्या करने की कोशिश की खबर आई है

नई दिल्ली।

ऑनलाइन गेम ब्लू व्हेल के बढ़ते खतरे के बीच असम के सिलचर में 22 साल के एक छात्र के दो मंजिला इमारत से कूदकर आत्महत्या करने की कोशिश की खबर आई है। पुलिस के मुताबित यह घटना ब्लू व्हेल गेम के कारण हो सकती है। पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बने ब्लू व्हेल गेम से जुड़ा सिलचर में यह पहला मामला है। मीडिया रिपोट्र्स के मुताबिक छात्र की पहचान गौरव सूत्रधार के तौर पर हुई है जो अपने चाचा के घर रह रहा था। गौरव थर्ड सेमेस्टर का छात्र है। उसे सिल्चर मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है।


बता दें कि असम में कथित रूप से ब्लू व्हेल गेम का आतंक बढ़ता ही जा रहा है। इससे पहले गुवाहाटी में में ब्लूव्हेल गेम की चपेट में आए दो किशोरों को हाल में अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दोनों ने अपने हाथों में कट लगाए थे।


इस खतरनाक गेम की बढ़ती लोकप्रियता के मद्देनजर इसके बारे में जागरूकता फैलाने के लिए कामरूप मेट्रोपोलिटन जिला प्रशासन ने एक समिति का गठन किया है। गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के अधीक्षक आर तालुकदार ने बताया कि किशारों की आयु 16 से 17 साल के बीच है। उन्हें अस्पताल के मनोचिकित्सा विभाग में भर्ती कराया गया है और उनकी काउंसलिंग की जा रही है।


अधीक्षक ने कहा कि इस प्रकार की घटनाएं रोकने की जिम्मेदारी माता पिताए शिक्षकों एवं समाज की है। इसके अलावा जब इस गेम के पीडि़त के अनुभवों को बार बार दिखाया जाता है तो इससे उन युवाओं में भी इसे खेलने की उत्सुकता पैदा हो जाती है, जिनकी इसमें रुचि नहीं होती। इस खतरे का संज्ञान लेते हुए कामरूप मेट्रोपॉलिटेन जिला प्रशासन ने सरकारी अधिकारियों एवं एनजीओ की समिति गठित की ताकि जिले में ब्लूव्हेल गेम को नियंत्रित करने के लिए जागरूकता फैलाई जा सके और इस पर नजर रखी जा सके।