असम में आधार कार्ड का काम रोका गया, जानिए वजह

Daily news network Posted: 2017-11-14 16:15:28 IST Updated: 2017-11-14 16:15:28 IST
असम में आधार कार्ड का काम रोका गया, जानिए वजह

गुवाहाटी।

असम में आधार कार्ड का काम रोक दिया गया है। यह फिर से जनवरी से शुरू होगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आधार कार्ड के डॉक्यूमेंटेशन की प्रक्रिया होल्ड पर रखी गई है क्योंकि प्रत्येक जिले के अधिकारी फिलहाल एनआरसी के कार्यान्वयन में लगे हुए हैं।


डॉक्यूमेंटेशन का कार्य यूनिक आईडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया के क्षेत्री कार्यालय हाउसफेड गुवाहाटी में होगा। यूआईडीएआई ने राज्य के सामान्य प्रशासन विभाग को निर्देश दिया है कि आधार के लिए डाटा कलेक्शन प्रोसेस के लिए लोकल वेंडर्स को एंगेज किया जाए। प्रक्रिया के लिए अन्य औपचारिकताओं के साथ बॉयोमेट्रिक डाटा कलेक्शन किया जाएगा। समय पर कार्य पूरा करने व दस्तावेजों की जांच के लिए पूरे असम में विभिन्न केन्द्रों को इस तरह के टेंडर्स दिए गए हैं।


सामान्य प्रशासन विभाग को दिसंबर तक सभी औपचारिकताएं पूरी करने के लिए कहा गया है। वक्र्स 10 यूनिटों के बीच 33 जिलों में वितरित किया गया है। दस्तावेज 7,996 सेंटर्स से एकत्रित किए जाएंगे। इनमें स्थायी और अस्थायी सेंटर शामिल है। ये सेंटर्स नामांकन के लिए डाटा एकत्रित करने के वास्ते प्रत्येक ग्राम पंचायत का दौरा करेंगे।


आपको बता दें कि असम के नागरिकों को आधार कार्ड नहीं होने के कारण लंबे समय  से काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि पायलट प्रोजेक्ट के रूप में नामांकन प्रक्रिया तीन जिलों गोलाघाट, नगांव और सोनितपुर में शुरू की गई थी लेकिन एनआरसी अपग्रेडेशन कार्य का विलय होने के कारण इसे आगे नहीं बढ़ाया गया। इस बीच आधार के बेहतर परिणाम के लिए बैंकों को प्रक्रिया के लिए निर्देशित किया गया है। प्रत्येक बैकं को आधार कार्य के लिए कम से कम एक काउंटर खाली करना होगा। गुवाहाटी में आईडीबीआई बैं(चानमारी ब्रांच), कैनरा बैंक(पनजाबारी ब्रांच), कॉर्पोरेशन बैंक(पनबारी ब्रांच), बैंक ऑफ बड़ोदा (जू ब्रांच) को आधार कार्य के लिए निर्देशित किया गया है।