बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए प्रशासन सक्रिय, धन की कमी नहीं: सोनोवाल

Daily news network Posted: 2017-07-14 10:20:52 IST Updated: 2017-07-14 10:20:52 IST
बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए प्रशासन सक्रिय, धन की कमी नहीं: सोनोवाल
  • असम में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए पूरा प्रशासन तंत्र सक्रिय है और हर स्तर पर लोगों की मदद के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

गुवाहाटी।

असम में बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए पूरा प्रशासन तंत्र सक्रिय है और हर स्तर पर लोगों की मदद के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए धन की कोई कमी नहीं है। 



आपदा प्रबंधन कोष में 500 करोड़ रुपए हैं। बाढ़ आने से पहले सभी जिला उपायुक्त को एक से डेढ़ करोड़ रुपए आवंटित कर दिए गए थे, ताकि राहत और बचाव कार्य में कोई कमी नहीं आए पहली बार बाढ़ की वजह से मारे गए लोगों को 48 घंटे के अंदर एकमुश्त राहत प्रदान की गई है। बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए जिला स्तर पर पूरा प्रशासन तंत्र सक्रिय है, लेकिन कुछ न्यूज चैनल जानबूझकर गलत खबर दिखा रहे हैं। 



मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री निजी तौर पर असम की बाढ़ समस्या को लेकर चिंतित हैं और निगरानी कर रहे हैं। इसलिए चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि लाखों लोग बाढ़ पीडि़त हैं, कुछ तक तत्काल राहत नहीं पहुंच सकती है, लेकिन प्रशासन हर किसी तक पहुंचाने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने खुद राहत शिविरों का दौरा किया और लोगों ने खाद्य सामग्रियां मिलने की बात स्वाकार की है। उन्होंने बताया कि काजीरंगा राष्ट्रीय पार्क के वनकर्मी बाढ़ के पानी में रात दिन एक कर वन्यजीवों को बचाने में लगे है। उन्होंने कहा कि बाढ़ समस्या गंभीर है और सभी को मिलकर इसका मुकाबला करना होगा।