असम: पुलिस कांस्टेबल से कहा,साबित करो कि तुम भारतीय हो

Daily news network Posted: 2017-06-14 12:01:21 IST Updated: 2017-06-14 12:01:21 IST
असम: पुलिस कांस्टेबल से कहा,साबित करो कि तुम भारतीय हो
  • राज्य की फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल कोर्ट ने असम पुलिस के एक कांस्टेबल को यह साबित करने को कहा है कि वह भारतीय नागरिक है

गुवाहाटी।

असम से एक चौंकाने वाली खबर सामने आई है। राज्य की फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल कोर्ट ने असम पुलिस के एक कांस्टेबल को यह साबित करने को कहा है कि वह भारतीय नागरिक है। रिपोर्ट के मुताबिक फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल ने हाल ही में असम पुलिस के कांस्टेबल अबु तहेर अहमद को नोटिस जारी किया था।


अबु तहेर फिलहाल दक्षिण सलमारा मानकछार जिले के दक्षिण सलमारा पुलिस थाने में पोस्टेड है। उसे यह साबित करने को कहा गया है कि वह भारतीय नागरिक है। यह नोटिस 15 मार्च को जारी किया गया था। फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल के नोटिस से अबु हैरान है। उसकना कहना है कि मैं यहां जन्मा हूं और यहीं पला बढ़ा हूं। नोटिस फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल केस 2123/2016 और पुलिस केस नंबर 1066/2000 है।


कोर्ट ने 8 अगस्त को फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल में पेश होकर खुद को भारतीय नागरिक साबित करने को कहा है। अबु तहेर अहमद ने कहा कि कोर्ट के नोटिस के बाद वह 8 जून को फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल में पेश हुआ, लेकिन उसे 8 अगस्त को होने वाली अगली सुनवाई में फिर पेश होना होगा। अबु ने कहा कि उसके दादा सोहिदुल्लाह शेख और पिता मजिउर रहमान के नाम 1951 के नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स में दर्ज हैं।


बकौल अबु,मेरे पिता ने 1978 में दसवीं बोर्ड की परीक्षा पास की थी। स्कूल के दस्तावेज इसकी पुष्टि करते हैं। मेरे पास भी जमीन के दस्तावेज हैं। मेरा जन्म और पालन पोषण दक्षिण सलमारा में हुआ है। वहीं वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि वोटर्स रजिस्ट्रेशन के कारण अबु डाउटफुल वोटर्स की लिस्ट में डाल दिया है। अब फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल ही तय करेगा कि अबु भारतीय नागरिक है या नहीं। 33 साल का अबु 2008 में असम पुलिस में शामिल हुआ था। दक्षिण सलमारा के एसपी अमृत भुयान का कहना है कि जब अबु ने फोर्स ज्वाइन की तब उसकी राष्ट्रीयता का विरेफिकेशन हुआ था। हालांकि अबु का कहना है कि वेरिफिकेशन के चार राउंड हुए थे।


भुयान के मुताबिक मामला 2000 का है। अबू ने 2008 में फोर्स ज्वाइन की थी। पुलिस फोर्स ज्वाइन करने से पहले अबु गुवाहाटी में रहता था। वोटर्स रजिस्ट्रेश ने अबु को डी-वोटर्स लिस्ट में रख दिया और फॉरेनर्स ट्रिब्यूनल के समन का इस केस से संबंध है। उसके पास पेपर्स हैं और उसे सिर्फ उन्हें दिखाने हैं। मुझे यकीन है कि सुनवाई के बाद उसे ज्यादा मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ेगा।