असम-राजस्थान के बीच होगा सांस्कृतिक आदान-प्रदान

Daily news network Posted: 2017-09-16 13:37:03 IST Updated: 2017-09-16 14:27:12 IST
असम-राजस्थान के बीच होगा सांस्कृतिक आदान-प्रदान
  • मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने भारत सरकार के 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए कल राजस्थान हाउस में राज्यों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम का उद्घाटन किया।

नई दिल्ली।

मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने भारत सरकार के 'एक भारत श्रेष्ठ भारत' कार्यक्रम को बढ़ावा देने के लिए कल राजस्थान हाउस में राज्यों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम का उद्घाटन किया। 



राजस्थान और असम के बीच हुए इस साझा कार्यक्रम में असम की संस्कृति, परंपराओं और प्रथाओं का प्रदर्शन किया गया।


कार्यक्रम में दोनों राज्यों के बीच मजबूत संबंधों को बेहतर बनाने की पहल करते हुए असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि असम और राजस्थान के बीच सैकड़ों सालों से सांस्कृतिक, आर्थिक और सामाजिक संबंध रहे हैं। उन्होंने रूप कोंवर ज्योति प्रसाद अगरवाला का नाम लेते हुए कहा कि यह नाम इस संबंध में एक प्रतिक है।



सोनोवाल ने दोनों राज्यों के बीच आर्थिक संबंधों पर कहा कि दोनों राज्य वस्तुओं के आयात-निर्यात में भी शामिल हैं, जो हमारे पारस्परिक आर्थिक विकास की दिशा में भी मदद करते हैं।



'एक भारत श्रेष्ठ भारत' कार्यक्रम के तहत दिल्ली स्थित राजस्थान हाउस में असमिया खान-पान महोत्सव का आयोजन किया गया। पारंपरिक असमिया जीवन शैली के साथ ही कार्यक्रम में माजुली द्वीप की संस्कृति, यहां के हथकरघा और हस्तशिल्प उत्पादों को भी प्रदर्शित किया गया।



इस मौके पर दोनों राज्यों के बीच संबंधों पर राजस्थान सरकार के मंत्री पीपी चौधरी ने असम के आर्थिक विकास में यहां रहने वाले राजस्थानी लोगों के योगदान को सराहा।