असम में ऑस्ट्रेलिया टीम बस पर हमला सुरक्षा की चूक नहीं: राठौड़

Daily news network Posted: 2017-10-11 14:34:21 IST Updated: 2017-10-11 14:36:18 IST
असम में ऑस्ट्रेलिया टीम बस पर हमला सुरक्षा की चूक नहीं: राठौड़
  • केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की बस पर पत्थर फेंके जाने की घटना को सुरक्षा की चूक मानने से इंकार किया

नई दिल्ली।

केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने आस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम की बस पर पत्थर फेंके जाने की घटना को सुरक्षा की चूक मानने से इंकार किया है। राठौर ने बुधवार को कहा कि यह मामला सुरक्षा में खामी से जुड़ा नहीं है। खेल मंत्री ने सोशल मीडिया पर इस घटना के संदर्भ में ट््वीट किया कि गुवाहाटी बस हमले की घटना सुरक्षा की खामी को नहीं दर्शाती है। आस्ट्रेलिया टीम और फीफा आयोजन दिखाते हैं कि भारत बहुत ही अच्छा मेजबान है।



भारत और आस्ट्रेलिया के बीच गुवाहाटी में दूसरे t20 मैच के बाद मेहमान टीम जब होटल लौट रही थी तभी किसी अज्ञात ने टीम की बस पर पत्थर फेंका जिससे बस की खिड़की के शीशे टूट गये और बड़ा सा पत्थर अंदर आकर गिरा। इस घटना में हालांकि कोई भी खिलाड़ी चोटिल नहीं हुआ है। खेल मंत्री ने साथ ही कहा कि उन्होंने असम के मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवाल से भी इस बारे में बात की है।



उन्होंने लिखा कि हमने सोनोवाल जी से गुवाहाटी की इस घटना के बारे में बात की है। भारत दौरे पर आने वाले सभी विदेशी एथलीटों और टीमों की व्यक्तिगत रूप से सुरक्षा हमारे लिये बहुत महत्वपूर्ण है। इस बीच असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने भी इस घटना की निंदा की है। उन्होंने भी सोशल साइट पर लिखा कि एक बहुत अच्छे मैच के बाद यह घटना काफी दुर्भाग्यपूर्ण है जो गुवाहाटी की छवि को नुकसान पहुंचाने के इरादे से की गयी जो निरंतर खेलों के एक नये स्थल के रूप में उभर रहा है। हम कड़े शब्दों में इस घटना की निंदा करते हैं।




उन्होंने लिखा कि हम इस घटना के दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के

लिये प्रतिबद्ध हैं। हमने पूरे जोर शोर से इस मामले की जांच शुरू कर दी है

और पुलिस ने पहले ही दो संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया है।




 वहीं क्रिकेट आस्ट्रेलिया(सीए) ने भी इस घटना की निंदा की है लेकिन साथ ही सरकार और प्रशासन की जांच को लेकर संतोष जताया है। सीए के अधिकारी ने कहा स्थानीय प्रशासन इस मामले की जांच कर रहा है और हम मामले में दिखाई गयी तत्परता और टीम को मुहैया कराई गयी सुरक्षा से संतुष्ट हैं।