खुद को असम का रहने वाला बताता था बांग्लादेशी आतंकी, कारण कर देगा हैरान

Daily news network Posted: 2017-08-11 16:10:21 IST Updated: 2017-08-11 16:10:21 IST
खुद को असम का रहने वाला बताता था बांग्लादेशी आतंकी, कारण कर देगा हैरान
  • मुजफ्फरनगर के गांव कुटेसरा से गिरफ्तार बांग्लादेशी आतंकी अब्दुल्ला खुद को आसाम का रहने वाला बताकर रह रहा था।

नई दिल्ली।

मुजफ्फरनगर के गांव कुटेसरा से गिरफ्तार बांग्लादेशी आतंकी अब्दुल्ला खुद को आसाम का रहने वाला बताकर रह रहा था। इसकी गिरफ्तारी के बाद यह सवाल उठ रहा था कि इसने खुद को आसाम का रहने वाला क्यों बताया था। अब यूपी एटीएस की छानबीन में अब्दुल्ला का आसाम कनेक्शन भी सामने आ गया है।


यूपी एटीएस के आईजी असीम अरुण की ओर से जारी एक बयान में बताया गया है कि बांग्लादेश से भारत आने पर अब्दुल्ला ने आसाम के एक गांव बनगाई से वोटर आईडी कार्ड बनवा लिया था। आम जनता के बीच यह इसी वोटर आईडी कार्ड को दिखाया करता था। यही कारण था कि यह सभी को बताता था कि वह आसाम का रहने वाला है। एटीएस की एक टीम ने इस पर भी काम शुरू कर दिया है कि आखिर उसका आसाम के बनगाई गांव से क्या कनेक्शन है। बांग्लादेश के रहने वाले अब्दुल्ला का आखिर आसाम से वोटर आईडी कार्ड कैसे बन गया इसका पता लगाने के लिए यूपी एटीएस ने आसाम पुलिस से संपर्क साधा है और इस मामले की जांच भी शुरू हो गई है कि उसने बनगाई गांव से यह वोटर आईडी कार्ड आखिर बनवाया कैसे।


यूपी पुलिस ने अब्दुल्ला को मुजफ्फरनगर के कुटेसरा से गिरफ्तार किया था। यहां यह एक मस्जिद में बतौर मौलवी रह रहा था। इसने सभी को यही बता रखा था कि वह आसाम का रहने वाला है, लेकिन इसकी भाषा बांग्लादेशी थी। यही कारण था कि यह कुटेसरा में लोगों से अधिक घुलता-मिलता नहीं था और इसकी भाषा पर आशंका होने के पर इसे सहारनपुर की अम्बेहटा शेख की मस्जिद से हटा दिया गया था। अब कुटेसरा के लोगों ने बताया है कि इसने खुद को आसाम का रहने वाला बताया था। यह सोचकर कि दूर का रहने वाला है छुट्टी ज्यादा नहीं करेगा इसलिए उसे मस्जिद में रख लिया गया था। अब इसके बांग्लादेशी आतंकी कनेक्शन को जानने के बाद खुद कुटेसरा के लोग सन्न हैं।