बाढ़ प्रभावित अरुणाचल-मिजोरम की सहायता के लिए केंद्र ने बढ़ाए हाथ

Daily news network Posted: 2017-06-14 19:57:21 IST Updated: 2017-06-14 19:57:21 IST
बाढ़ प्रभावित अरुणाचल-मिजोरम की सहायता के लिए केंद्र ने बढ़ाए हाथ
  • केंद्र ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम सरकार को आश्वासन दिया कि वह बाढ़ से निपटने के लिए उन्हें सभी सहायता प्रदान करेगा।

केंद्र ने बुधवार को अरुणाचल प्रदेश और मिजोरम सरकार को आश्वासन दिया कि वह बाढ़ से निपटने के लिए उन्हें सभी सहायता प्रदान करेगा।



केंद्रीय गृह मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट किया, 'गृह मंत्रालय अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम और अन्य राज्यों में आवश्यक सहायता (एसआईसी) के लिए भारी बाढ़ की स्थिति की निगरानी कर रहा है।'

उन्होंने आगे कहा, 'केंद्र सरकार राज्य सरकारों के साथ लगातार संपर्क में है। सभी पैरा-मिलिट्री, आर्मी, सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) और राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) टीमें राज्य सरकारों को आवश्यक मदद के लिए आगे बढ़ रही हैं।'



रिजिजू ने आगे ट्वीट किया कि गृह मंत्रालय (एमएचए) 24×7 नियंत्रण कक्ष इन राज्यों में आवश्यक मदद के लिए गंभीर भूस्खलन और बाढ़ की निगरानी कर रहा है।

बता दें कि मिजोरम के लुंगलेई जिले के तलबुंग उप-विभागीय इलाके में भारी बारिश और बाढ़ के कारण दो बच्चों की मां सहित कम से कम आठ लोग मारे गए और छह अन्य लापता हैं।



बाढ़ ने राज्य के विभिन्न हिस्सों में लगभग 350 घरों को जलमग्न किया गया है। बाढ़ से कम से कम 8 गांवों के धान की फसल डूब गई है।

त्लावांग नदी, जो ऐज़ावल के माध्यम से चलती है, खतरे के स्तर से ऊपर बढ़ी है। पानी लगभग बेली ब्रिज तक पहुंच गया। यहां बाढ़ से 15 घर बह गया है। कम से कम 52 परिवारों को बचाया जा चुका है।

राजधानी आइजोल शहर में, कम से कम पांच घर ढह गए हैं और भूस्खलन ने कई सड़कों को अवरुद्ध कर दिया है। हालांकि, सड़कों को साफ किया जा रहा है और बचाव अभियान चलाया जा रहा है।

पिछले दो दिनों में लगातार बारिश ने मिजोरम में कहर बरपाया यह पहली बार है कि आइजोल जिले में बाढ़ आ गई है। प्रत्येक गांव में प्राधिकरण द्वारा अस्थाई आश्रयों की व्यवस्था की जा रही है।