बारिश की राजधानी चेरापूंजी में हुई 638 मिमी बारिश!

Daily news network Posted: 2017-06-19 20:10:34 IST Updated: 2017-06-19 20:10:34 IST
बारिश की राजधानी चेरापूंजी में हुई 638 मिमी बारिश!
  • दक्षिण पश्चिम मानसून ने पूर्वोत्तर भारत में समय पर दस्तक दे दी है। यहां पिछले 24 घंटों में मानसून के कारण भारी बारिश हुई है। लगातार हल्की से मध्यम बारिश की वजह से असम और मिजोरम राज्य में भारी बाढ़ का कारण बन गया है।

गुवाहाटी।

दक्षिण पश्चिम मानसून ने पूर्वोत्तर भारत में समय पर दस्तक दे दी है। यहां पिछले 24 घंटों में मानसून के कारण भारी बारिश  हुई है। लगातार हल्की से मध्यम बारिश की वजह से असम और मिजोरम राज्य में भारी बाढ़ का कारण बन गया है।



बारिश के प्रभाव के कारण पूर्वोत्तर राज्यों, विशेष रूप से असम, मेघालय और त्रिपुरा के कई हिस्सों में भारी बारिश की हुई है। 



शुक्रवार को पिछले 24 घंटों के लगातार बारिश के कारण सुबह 8:30 बजे से तक चेरपूंजी में 638 मिमी बारिश दर्ज की गई, वहीं गोलपाड़ा 187 मिमी, शिलांग 138 मिमी, डिब्रूगढ़ 58 मिमी, धुबरी 57 मिमी, तेजपुर और कोहिमा 47 मिमी, गुवाहाटी 44 मीटर और इंफाल 31 मिमी बारिश हुई है। 



मौसम विभाग के मुताबिक, पूर्वोत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों में विशेष रूप से अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय के अधिक हिस्सों में भारी बारिश के कारण भारी बारिश होगी। साथ ही नागालैंड, मिजोरम, मणिपुर और त्रिपुरा में भी भारी बारिश की भी संभावनाएं हैं।



गौर हो कि चेरापूंजी दुनिया में सर्वाधिक बारिश वाला क्षेत्र है। बारिश की राजधानी के रूप में मशहूर चेरापूंजी समुद्र से लगभग 1300 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है जो मेघालय की राजधानी शिलांग से 60 किलोमीटर की दूरी पर है। चेरापूंजी को सोहरा के नाम से भी जाना जाता है। यहां औसत वर्षा 10,000 मिलीमीटर होती है। वर्षा ऋतु में दूर-दूर से पर्यटक यहां आते हैं। हरियाली से सजी चेरापूंजी की पहाड़ियां बरबस ही लोगों को अपनी ओर खींच लेती हैं।