जनता दरबार में मुख्य मंत्री बिरेन सिंह ने दिया हर संभव सहायता का भरोसा

Daily news network Posted: 2017-07-17 17:17:31 IST Updated: 2017-07-17 17:17:31 IST
जनता दरबार में मुख्य मंत्री बिरेन सिंह ने दिया हर संभव सहायता का भरोसा
  • मणिपुर में हजारो लोगों ने शनिवार को सचिवालय में आयोजित तीसरे मीयागी उत्तर में शिरकत की और इस मुख्य मंत्री एन बिरेन सिंह के सामने अपनी शिकायतें रखी।

इंफाल।

मणिपुर में हजारो लोगों ने शनिवार को सचिवालय में आयोजित तीसरे मीयागी उत्तर में शिरकत की और इस मुख्य मंत्री एन बिरेन सिंह के सामने अपनी शिकायतें रखी। 



मुख्य मंत्री ने सुबह 8:30 से लेकर शाम 5:10 तक करीब 800 शिकायतें सुनी और करीब 3000 लोगों से मुलाकात कर उनकी परेशानी जानीं।



इस मौके पर मुख्य मंत्री ने कहा की इस तरह के समारोह से यह पता चलता है कि सामाज में लोग किस तरह की दिक्कतों से जूझ रहे हैं और वह सरकार के बारे में क्या सोचते हैं। 



उन्होने इस बात पर भी जोर दिया की वह राज्य के विकलांग व्यक्यिों, विधवाओं और बूढ़ों की समास्याओं को लेकर चिंतित हैं।



इसके साथ ही उन्होंने लोगों को यह भरोसा भी दिलाया कि राज्य सरकार उनकी समास्याओं को लेकर सजग है और उनकी समस्याओं के समाधान खोजने के कोशिश करेगी।



उन्होंने कहा कि नई सरकार का उद्देश्य सिर्फ बुनियादी ढांचे जैसे विकास और सड़कों का निर्माण करना ही नहीं है अपितु लोगों को हर तरह से सहायता और सेवा प्रदान करना भी है। 



इसके साथ ही बिरेन ने यह भी कहा की सरकार को विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों को सही ढंग से व्यवस्थित करने के लिए समय की आवश्यकता हैं ताकि एक प्रभावी और परिणाम स्वरूप योजना लोगों तक पहुंच सकें। 



उन्होंने लोगों को यह आश्वासन भी दिया कि सरकार सभी मौजूदा योजनाओं की व्यापक समीक्षा भी करेगी जिससे सामाज के सभी जरूरतमंद लोगों तक इसका लाभ पहुंच सके। जिसके लिए मणिपुर स्टेट को-आपरेटिव बैंको को जरूरतमंदों को कर्ज देने के लिए बोला गया है ताकि लोग आत्मनिर्भर हो सके। 



इसके साथ ही सरकार स्वंय सहायता समूहों को भी प्रोत्साहित कर रही है जिससे राज्य में नए रोजगार उत्पन्न हो। 



मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार मणिपुर फर्जी मुठभेड़ मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करती हैं। 



उन्होंने यह भी कहा की जीवन का कोई मतलब नहीं अगर हम मानवआधिकारों का सम्मान ना कर सके, इसलिए सरकार हर संभव प्रयास करेगी।