त्रिपुरा में गिरफ्तार किए गए कांग्रेस के 755 कार्यकर्ता, जानिए क्यों

Daily news network Posted: 2017-05-19 11:44:10 IST Updated: 2017-05-19 11:51:32 IST
त्रिपुरा में गिरफ्तार किए गए कांग्रेस के 755 कार्यकर्ता, जानिए क्यों
  • त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस ने दावा किया है कि उसका 24 घंटे का बंद पूरी तरह सफल रहा। बंद से सामान्य जनजीवन थम गया। दुकानें और निजी दफ्तर बंद रहे।

अगरतला। त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस ने दावा किया है कि उसका 24 घंटे का बंद पूरी तरह सफल रहा। बंद से सामान्य जनजीवन थम गया। दुकानें और निजी दफ्तर बंद रहे। सड़कों पर वाहन भी नजर नहीं आए। राजधानी अगरतला में स्थित प्रदेश कांग्रेस भवन में मीडिया को संबोधित करते हुए त्रिपुरा प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बिराजीत सिन्हा ने कहा कि राज्य के अलग अलग हिस्सों से 1500 कार्यकर्ता गिरफ्तार किए गए। हालांकि राज्य के पुलिस मुख्यालय ने जानकारी दी है कि पूरे राज्य से 755 कांग्रेस कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया गया। बंद के दौरान कही से अशुभ समाचार नहीं मिला। 

कांग्रेस ने 12 मांगों को लेकर राज्य व्यापी बंद बुलाया था। कांग्रेस की प्रमुख मांगे थी चिट फंड घोटाले की जांच तुरंत सीबीआई को सौंपी जाए, बेरोजगारी भत्ता शुरू हो, एग्रीकल्चर ऋण माफ हो, बर्खास्त किए गए 10 हजार 323 शिक्षकों को अन्य सरकारी पदों पर समायोजित किया जाए। हालांकि सरकार ने शिक्षा एवं सामाजिक विभागों में 13 हजार नए पद सृजित करने की घोषणा की है। इन पदों पर बर्खास्त शिक्षकों को समायोजित किया जाएगा। सरकार की इस घोषणा से कांग्रेस का पक्ष कमजोर पड़ गया है। 

सिन्हा ने राज्य में सीपीएम के नेतृत्व वाली और भाजपा के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार को चेताया कि विभिन्न चिट फंड कंपनियों की सीबीआई से जांच कराई जाए जिन्होंने राज्य सरकार की अनुमति और संरक्षण से बिजनेस शुरू किया था। सिन्हा ने कहा कि हम 28 मई को फिर मिलेंगे और अगले कदम के बारे में फैसला लेंगे। सरकार को चिट फंड घोटाले की सीबीआई से जांच की अनुमति देनी चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो हम पूरे राज्य में विशाल सत्याग्रह शुरू करेंगे। 

सिन्हा ने बताया कि एआईसीसी के कुछ नेता भी 28 मई को होने वाली मीटिंग में शामिल हो सकते हैं। इससे पहले कांग्रेस ने राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा था। कांग्रेस ने दिल्ली में जंतर मंतर पर बड़ा प्रदर्शन किया था। बंद से पहले नॉर्थईस्ट फ्रंटियर रेलवे अथॉरिटी ने बयान जारी कर जानकारी दी कि अगरतला-सिलचर पैसेंजर एक्सप्रेस,अगरतला,सिलचर एक्सप्रेस, सिलचर-धरमानगर और धरमानगर-सिलचर पैसेंजेर ट्रेन,अगरतला-धरमानगर और धरमानगर-अगरतला ट्रेन और अगरतला व उदयपुर के बीच चलने वाली ट्रेनों को बंद के कारण कैंसिल कर दिया गया। हालांकि अगरतला से दिल्ली,कोलकता और गुवाहाटी के बीच चलने वाली उड़ानों के कार्यक्रम में कोई बदलाव नहीं किया गया।