मुकुल संगमा का दावा, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिलेगा पूर्ण बहुमत

Daily news network Posted: 2017-12-07 16:01:07 IST Updated: 2017-12-07 16:01:07 IST
मुकुल संगमा का दावा, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिलेगा पूर्ण बहुमत
  • मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सत्तारुढ़ कांग्रेस के मंत्रियों व विधायकों के पलायन को महत्व ना देते हुए बुधवार को दावा किया कि पार्टी 60 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव में पूर्ण बहुमत से वापसी करेगी।

शिलॉन्ग।

मेघालय के मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले सत्तारुढ़ कांग्रेस के मंत्रियों व विधायकों के पलायन को महत्व ना देते हुए बुधवार को दावा किया कि पार्टी 60 सदस्यीय विधानसभा के चुनाव में पूर्ण बहुमत से वापसी करेगी। आपको बता दें कि मेघालय में अगले साल फरवरी-मार्च में विधानसभा चुनाव होने हैं। शिलॉन्ग में एक कार्यक्रम से इतर पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री मुकुल संगमा ने कहा, मैं आपको बता रहा हूं कि हम 2018 में 40 सीटों के साथ वापसी कर रहे हैं। मेरे इन शब्दों को देख लेना।

मुख्यमंत्री मुकुल संगमा का यह बयान उस वक्त आया है जब तीन कांग्रेस मंत्रियों, जिनमें कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष व चार बार मुख्यमंत्री रहे डी.डी.लपांग भी शामिल हैं, ने घोषणा की है कि वे आगामी विधानसभा चुनाव में हिस्सा नहीं लेंगे। चार कैबिनेट मंत्री भी कांग्रेस के टिकट पर फिर से चुनाव नहीं लडऩा चाहते हैं। मुख्यमंत्री मुकल संगमा ने कांग्रेस से भागने का इरादा रखने वालों पर हमला करते हुए कहा, इस तरह के विधायकों ने कांग्रेस के हजारों समर्थकों को धोखा दिया है। यह मिस्टर ए या बी को धोखा देने का सवाल नहीं है लेकिन यह कांग्रेस के हजारों समर्थकों को धोखा देने की बात है, जिन्होंने उन्हें राज्य व लोगों की सेवा करने का अवसर प्रदान किया।

आपको बता दें कि कुछ मंत्रियों ने मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली को लेकर शिकायत की थी। इस पर मुख्यमंत्री संगमा ने कहा, प्रोसिजर के मुताबिक अगर मंत्री उपलब्ध नहीं है तो फाइल नोटिंग वह मंत्री लिखेगा जो टूर पर है और इसके बाद मुख्यमंत्री के सामने रखेगा। मुकुल संगमा ने कहा, लोगों के हित में हम उन लोगों के लिए इंतजार नहीं कर सकते जो दफ्तर नहीं आते हैं। पूर्व वन मंत्री प्रेस्टोन टी.के कोलकाता के दौरों पर सवाल खड़े करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, वे ऐसे यात्रा करते हैं जैसे वहां उनके लिए कोई महत्वपूर्ण व्यक्ति इंतजार कर रहे हैं। मंत्री पद बहुत ही जिम्मेदारी वाला पद है, यह उसके लिए नहीं है जो शिलॉन्ग से कोलकाता और कोलकाता से शिलॉन्ग आता जाता रहता है।

गर आप आरटीआई दाखिल कर तो आपको यह जानकारी मिल जाएगी कि कितनी बार ये मंत्री शिलॉन्ग से कोलकाता गए और कोलकाता से शिलॉन्ग आए, उनका कोलकाता में क्या काम है? इससे पहले संगमा ने कांग्रेस के बागी विधायकों को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देने की चुनौती दी। संगमा ने मीडिया से कहा, हम उन सभी को जानते हैं जो इस्तीफा देंगे। हम यह देखकर खुश होंगे कि वे विधायकी से इस्तीफा देंगे। इस वजह से हमने पर्याप्त समय दिया है। अगर किसी में हिम्मत है तो विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा देकर दिखाएं।