बदरुद्दीन अजमल व भाजपा के बीच साठगांठ : दे

Daily news network Posted: 2017-12-06 16:08:47 IST Updated: 2017-12-06 16:08:47 IST
बदरुद्दीन अजमल व भाजपा के बीच साठगांठ : दे
  • एआईयुडीफ सुप्रीमो बदरुद्दीन अजमल व भाजपा के बीच आपसी सांठगांठ है। उक्त बातें आज पूर्व मंत्री डॉ दे ने कही। उन्होंने कहा कि बदरुद्दीन अजमल अपने व्यवसाय के हित के लिए केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के साथ भीतर ही भीतर सांठगांठ कर रहे हैं ताकि उनका व्यवसाय फलता फूलता रहे। वे ऊपर से दिखाते कुछ और ह

असम

 होजाई  । एआईयुडीफ सुप्रीमो बदरुद्दीन अजमल व भाजपा के बीच आपसी सांठगांठ है। उक्त बातें आज पूर्व मंत्री डॉ। अरधेन्दु ने कही। उन्होंने कहा कि  बदरुद्दीन अजमल अपने व्यवसाय के हित के लिए केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार के साथ भीतर ही भीतर सांठगांठ कर रहे हैं ताकि उनका व्यवसाय फलता फूलता रहे। वे ऊपर से  दिखाते कुछ और है भीतर ही भीतर कुछ और चलते रहते हैं। उन्हें चाहिए सिर्फ स्वार्थ पूर्ति ।





 डॉ. दे ने सिलचर में हिंदुवादी नेता देवतनु भट्टाचार्य, एआईयूडीएफ़ के पूर्व विधायक शाह आलम, भारतीय जमीयत ए हिंद के अध्यक्ष सैयद अरशद मौलाना मदनी द्वारा दिए गए भड़काऊ बयानों पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि ऐसे बयान देकर असम में अशांति की सृष्टि करने की चेष्टा करना चाहते हैं। 






ऐसी बयानबाजी पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर जेल में डालना चाहिए, ताकि भविष्य में लोग असम में अशांति फैलाने की चेष्ठा न कर सके । दे  ने असम सरकार की दोहरी नीति के संबंध में कहा कि इसके पहले ऐसे बयान देने वालों पर कार्रबाई हुई, पर अब क्यों नहीं। उन्होंने कहा कि कृषक नेता अखिल गोगोई ने अस्त्र उठाने की बात कही, वहीं अल्फा नेता जितेन दत्त ने भी अस्त्र उठाने की बात कही। पर अखिल पर कार्रवाई कर उन्हें जेल में डाल दिया, वहीं दत्त पर कोई कार्रवाई नहीं हुई । सरकार की इस लीला को कोई नहीं समझ पा रहा है ।