भ्रष्टाचार विरोधी अभियान की वजह से मेरे शत्रुओं की संख्या बढ़ी: सोनोवाल

Daily news network Posted: 2017-07-14 10:23:31 IST Updated: 2017-07-14 10:23:31 IST
भ्रष्टाचार विरोधी अभियान की वजह से मेरे शत्रुओं की संख्या बढ़ी: सोनोवाल
  • भ्रष्टाचार किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं है। असम सरकार का भ्रष्टाचार विरोधी अभियान जारी रहेगा।

गुवाहाटी।

भ्रष्टाचार किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं है। असम सरकार का भ्रष्टाचार विरोधी अभियान जारी रहेगा। मुझे पता है कि भ्रष्टाचार पर हमले की वजह से मेरे राजनीतिक दुश्मनों की संख्या बढ़ गई है, लेकिन मेरा अभियान जारी रहेगा। यह कहना है मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल का।



 उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ जारी लड़ाई  की वजह से कई लोग नाराज हैं, क्योंकि पिछले 15 साल में भ्रष्टाचार धुन से राज्य त्रस्त था। कई लोगों को वित्तीय क्षति हो रही है। इसलिए उनकी सरकार के खिलाफ सुनियोजित कुप्रचार शुरु हो गया है। आज यदि वे भ्रष्टाचार खिलाफ अभियान रोक दें तो उनके खिलाफ चल रहा कुप्रचार खुद ही रुक जाएगा, लेकिन वे इस सवाल पर समझौता करने को तैयार नहीं है। परिणाम चाहे जो हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग उनके खिलाफ कुप्रचार में शामिल हैं, लेकिन उससे उन पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें भ्रष्टाचार से किसी तरह का समझौता न करने को कहा है और वे इस राह पर चलते रहेंगे। 



उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार विरोधी अभियान से राजनीतिज्ञ, अधिकारी और दलालों को दिक्कत हो रही है, लेकिन इसकी उन्हें कोई परवाह नहीं है। बाढ़ पीडि़तों की समस्या पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि उन बाढ़ पीडि़तों ने उन्हें मुख्यमंत्री बनाया है, इसलिए उनकी अपेत्रा का सवाल ही नहीं है। वे लगातार लोगों की मदद का प्रयास कर रहे हैं। बाढ़ के बाद प्रभावितों के पुनर्वास का जिम्मा भी राज्य सरकार का है। सरकार उनकी मदद करेगी। इस बार बाढ़ मदद के नाम पर किसी को लूट का मौक नहीं मिल रहा है, इसलिए संभव है कि कुछ अधिकारी लापरवाही बरत रहे हैं। उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। उनकी नजर मीडिया की हर खबर पर है और वे जरूरतमंदों तक पहुंचने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने बाढ़ पीडि़तों की मदद के लिए स्वयंसेवा संस्थाओं से आगे आने का आह्वान किया है।