देश शरीयत के नहीं, संविधान के अनुसार चलेगा : हिंयुछाप

Daily news network Posted: 2017-06-19 11:32:32 IST Updated: 2017-06-19 11:32:32 IST
देश शरीयत के नहीं,  संविधान के अनुसार चलेगा : हिंयुछाप
  • हिंदू युवा छात्र परिषद (हिंयुछाप) ने इस्लाम धर्मावलंबियों में जारी बहुविवाह प्रथा का विरोध करते हुए कहा कि देश में सबके लिए समान कानून होना चाहिए ।

ASSAM

गुवाहाटी। हिंदू युवा छात्र परिषद (हिंयुछाप) ने इस्लाम धर्मावलंबियों में जारी बहुविवाह प्रथा का विरोध करते हुए कहा कि देश में सबके लिए समान कानून होना चाहिए । हिंयुछाप के राष्ट्रीय  मार्गदर्शक तथा हैदराबाद स्थित गुरुसत्ता मठ के स्वामी रुद्रगुप्त पदाचार्य  ने रविवार को गुवाहाटी प्रेस क्लब में यह भी कहा की  देश शरीयत के नही संविधान के अनुसार चलेगा। 


उन्होंने कहा कि देश में किसी भी धर्म विशेष के लोगों के  लिए अलग कानून नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि  चार  शादी-बीस  बच्चों  की योजना एक साजिश के तहत चलाई जा रही है ताकि हिंदू आबादी को अल्पसंख्यक बनाया जा सके। ऐसी ही साजिश के द्वारा अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश को अखंड भारत से अलग होना पड़ा है।

असम में जारी घुसपैठ के निदान के लिए उन्होंने कहा की  भारत सरकार को चाहिए कि बांग्लादेश  के रंगपुर पर कब्ज़ा जमाकर असम के बांग्लादेशियो  को  वहां  बसाने का काम करें। इसमें मुसलमान और हिंदू दोनों ही घुसपैठियों  को  शामिल किया जाना चाहिए । 



उन्होंने कहा कि असम के मदरसों में जिहादी पैदा किए जा रहे  है । देश के कई हिस्सों  में पकडे गए जिहादियों के सूत्र असम में पाए गए  है, लिहाजा सरकार को ऐसे मदरसों पर लगाम लगाने की दिशा में  कदम उठने चाहिए।