असम : लोकसभा-विधानसभाओं में महिलाओं को संरक्षण की मांग में माकपा का धरना

Daily news network Posted: 2017-07-18 15:42:27 IST Updated: 2017-07-18 15:42:27 IST
असम : लोकसभा-विधानसभाओं में महिलाओं को संरक्षण की  मांग में माकपा का धरना
  • लोकसभा और देश की सभी विधानसभाओं में महिलाओं के लिए एक तिहाई सीट आरक्षित किए जाने की मांग को लेकर भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने नेता-कार्यकर्ताओं ने सोमबार को दिघलीपुखरी के किनारे धरना दिया । इस कार्यक्रम में बडी संख्या में महिलाओं ने भी हिस्सा लिया ।

असम

गुवाहाटी । लोकसभा और देश की सभी विधानसभाओं में  महिलाओं के लिए एक तिहाई सीट आरक्षित किए जाने  की मांग को लेकर  भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने नेता-कार्यकर्ताओं ने सोमबार को दिघलीपुखरी के किनारे धरना दिया । इस कार्यक्रम में बडी संख्या  में महिलाओं ने भी हिस्सा लिया । 





धरने पर बैठे  माकपा नेता देवेन भट्टाचार्य  ने कहा कि महिलाओं के आरक्षण से संबंधित यह मांग लंबे समय से की जा रही है । भारी जन दबाव के चलते 1993 में पहली बार लोकसभा में इस संबंध में एक बिल भी पेश किया गया था । 





उन्होंने कांग्रेस और भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा कि इन दोनों राजनीतिक दलों की उदासीनता और न चाहने की वज़ह से महिला आरक्षण का मुद्दा लटका पड़ा है ।




धरना स्थल पर आयोजित प्रतिवाद सभा को  माकपा की केंद्रीय समिति के सदस्य उद्धव बर्मन, शत्तजीत  दास और माधुरी देव ने भी संबोधित किया । सभी वक्ताओं ने मोदी सरकार की खिंचाई  करते हुए कहा कि सरकार को सत्ता संभाले तान साल गुजर जाने के वाद भी महिला संरक्षण के बिल को पेश करने और उसे पारित करने को दिशा में कोई कदम नहीं उठाया गया । 




गुवाहाटी के अलावा तिनसुकिया, नाहार कटिया  गोरेश्वर, नलबाडी, बरपेटा, बंगाईगांव, ग्वालपाड़ा आदि स्थानों   पर उक्त कार्यक्रम आयोजित किया गया ।