दार्जिलिंग में फिर भड़की हिंसा, सुरक्षाबलों पर पथराव, पुलिस-मीडिया के वाहन फूंके

Daily news network Posted: 2017-06-15 15:15:59 IST Updated: 2017-06-15 15:15:59 IST
दार्जिलिंग में फिर भड़की हिंसा, सुरक्षाबलों पर पथराव, पुलिस-मीडिया के वाहन फूंके
  • दार्जिलिंग में गुरुवार सुबह गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों ने कथित रूप से मीडिया के वाहन और एक पुलिस थाने में आग लगा दी

दार्जिलिंग।

दार्जिलिंग में गुरुवार सुबह गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के समर्थकों ने कथित रूप से मीडिया के वाहन  और एक पुलिस थाने में आग लगा दी। साथ ही सुरक्षाबलों पर पथराव किया। गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष विमल गुरुंग के घर पुलिस की छापेमारी के बाद ये हिंसा हुई। छापेमारी के बाद बड़ी संख्या में जीजेएम के कार्यकर्ता एकत्रित हो गए और उन्होंने गुरुंग के घर के पास तैनात सुरक्षाबलों पर हमला किया और पुलिस व मीडिया संगठन के वाहनों को आग लगा दी। जीजेएम ने पुलिस की कार्रवाई के विरोध में दार्जलिंग बंद का आह्वान किया। 

बता दें कि पश्चिम बंगाल में पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के आह्वान पर दार्जिलिंग के सभी सरकारी कार्यालयों में अनिश्चितकालीन बंद के आज चौथे दिन पैरा-मिलिट्री बलों ने जीजेएम नेता विमल गुरुंग के यहां पाटलेबास स्थित आवास पर छापा मारा और कई हथियारों और विस्फोटकों सहित नकद रकम बरामद किए। 



आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक दार्जिलिंग जिला पुलिस अधीक्षक अखिलेश चतुर्वेदी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जावेद शमीम की अगुवाई में जीजेएम नेता के आवास पर छापा मारा गया । छापे के दौरान कई हथियार और विस्फोटकों के अलावा भारी मात्रा में करेंसी नोट बरामद किये गये। दूसरी तरफ जीजेएम नेता गुरंग का तात्कालिक रुप से कोई पता नहीं चला है। प्रमुख पैरा-मिलिट्री बल ने कुर्सियांग और कलिम्पोंग में भी तलाशी अभियान छेड़ रखा है।



जीजेएम की रैली, सेना-पैरामिलिट्री बल तैनात 

वहीं पृथक गोरखालैंड की मांग को लेकर गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के आह्वान पर दार्जिलिंग के सभी सरकारी कार्यालयों में अनिश्चितकालीन बंद के आज चौथे दिन समूचे शहर में रैलियों की घोषणा के मद्देनजर सेना और पैरा-मिलिट्री बल सभी संवेदनशील इलाकों में तैनात हैं। सेना और पैरा-मिलिट्री बल के जवानों ने जीजेएम की यूथविंग की रैली को ध्यान में रखते हुए समूचे दार्जिलिंग में विभिन्न गतिविधियों की तस्वीरें लेनी शुरू कर दी है तथा सभी वाहनों की तलाशी ले रहे हैं। 



जीजेएम के यूथविंग के महासचिव अमृत योन्जों ने संवाददाताओं से कहा कि उनकी रैली शांतिपूर्ण रहेगी तथा अगर पुलिस ने उनकी रैली को रोकने का प्रयास किया तो अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जायेगा। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता बनर्जी सरकार दमनकारी और तानाशाही नीतियां अपना रही है, लेकिन इसके बावजूद वे पृथक राज्य के लिये चलाये जा रहे आंदोलन को विस्तार देंगे।