भारतीय मछुआरे का शव लेने से इनकार, श्रीलंका की फायरिंग में हुई थी मौत

Daily news network Posted: 2017-03-07 15:46:23 IST Updated: 2017-10-20 15:16:33 IST
भारतीय मछुआरे का शव लेने से इनकार, श्रीलंका की फायरिंग में हुई थी मौत
  • श्रीलंकन नेवी ने समुद्र में मछली पकड़ रहे एक भारतीय मछुआरे को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। घटना से गुस्साए सैकड़ों लोगों ने सोमवार को रामेश्वरम में विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने मारे गए अपने साथी की बॉडी लेने से इनकार किया है।

चेन्नई।

श्रीलंकन नेवी ने समुद्र में मछली पकड़ रहे एक भारतीय मछुआरे को गोली मार दी, जिससे उसकी मौत हो गई। घटना से गुस्साए सैकड़ों लोगों ने सोमवार को रामेश्वरम में विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने मारे गए अपने साथी की बॉडी लेने से इनकार किया है। उनका कहना है कि पहले कोई केंद्रीय मंत्री यहां का दौरा करे और यह भरोसा दिलाए कि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं होंगी।



भारत ने श्रीलंका सरकार के समक्ष मछुआरे की हत्या पर कड़ा एतराज 

उधर, भारत ने श्रीलंकाई नौसैना की ओर से 22 वर्षीय एक भारतीय मछुआरे की सोमवार रात गोली मार कर हत्या किए जाने पर श्रीलंका सरकार के समक्ष कड़ा विरोध जताया है। विदेश मंत्रालय की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि भारतीय मछुआरे की हत्या को लेकर भारत सरकार को गहरी चिंता है। बयान में कहा गया है कि श्रीलंका में हमारे उच्चायुक्त ने इस मामले को श्रीलंका के प्रधानमंत्री के समक्ष उठाया है। श्रीलंकाई नौसेना ने जांच का भरोसा दिया है। रामेश्वरम से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार नौका पर ब्रिस्टो के साथ सवार एक अन्य मछुआरे ने बताया कि वे भारतीय सीमा के अंदर ही मछली पकडऩे में व्यस्त थे। तभी श्रीलंकाई सेना का एक दल नौका से तेजी से आया और बिना चेतावनी जारी किए ही गोलीबारी शुरू कर दी। हम बिना उकसावे की गोलीबारी से बचने के लिए नौका के अंदर कैबिन में गए लेकिन तब तक एक गोली ब्रिस्टो को लग चुकी थी। 



पलानीस्वामी ने भारतीय मछुआरे की हत्या की कड़ी निंदा की 

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री इडप्पाडी के पलानीस्वामी ने मंगलवार को श्रीलंकाई नौसेना की ओर से रामेश्वरम के मछुआरे की हत्या की कड़ी निंदा की। पलानीस्वामी ने एक बयान में कहा कि मछुआरे भारतीय समुद्री सीमा के अंदर पारंपरिक पाक स्ट्रेट के पास मछली पकड़ रहे थे तभी श्रीलंकाई नौसेना ने बिना किसी उकसावे के मछुआरों की नौका पर गोलीबारी शुरू कर दी।

उन्होंने बताय कि इस गोलीबारी में रामेश्वरम के थानगेची मेडम निवासी ब्रिटो की मौत हो गई और एक अन्य सेरोन घायल हो गया, जिसे रामेश्वरम के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।



सेरोन को रामेश्वरम में तत्काल चिकित्सा मुहैया कराने के बाद बेहतर इलाज के लिए उसे रामनाथपुरम सरकारी अस्पताल में भर्ती करा दिया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने जिला प्रशासन को घायल मछुआरे के बेहतर इलाज के निर्देश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री ने इस मामले पर गहरी चिंता जताते हुए कहा कि राज्य सरकार इस तरह की घटनाओं के स्थायी समाधान के लिए केंद्र सरकार से आग्रह करेगी। पलानीस्वामी ने मृतक मछुआरे की मौत पर गहरा दुख जताते हुए मुख्यमंत्री सार्वजनिक राहत निधि से परिजन को पांच लाख रुपए की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। इसके साथ ही इस घटना में घायल मछुआरे के लिए भी उन्होंने एक लाख रुपए की सहायता राशि देने की घोषणा की।