देवब्रत ने लिखी मुख्यमंत्री को तीन पेज की खुली चिट्ठी

Daily news network Posted: 2017-06-18 14:57:44 IST Updated: 2017-06-18 14:57:44 IST
देवब्रत ने लिखी मुख्यमंत्री को तीन पेज की खुली चिट्ठी
  • विरोधी दल और कांग्रेस विधायक दल के नेता देवब्रत सइकिया ने मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को खुली चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में छह खास मुद्दों पर सरकार की विफलता को लेकर चिंता जताई है।

गुवाहाटी।

विरोधी दल और कांग्रेस विधायक दल के नेता देवब्रत सइकिया ने मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल को खुली चिट्ठी लिखी है। चिट्ठी में छह खास मुद्दों पर सरकार की विफलता को लेकर चिंता जताई है।



ये मुद्दे नगांव कागज कारखाने आदि के कर्मियों की तंगहालत, आदर्श विद्यालय में केवल अंग्रेजी माध्यम से पढ़ने वालों को ही नौकरी देने, पड़ोसी राज्यों के अतिक्रमण, कानून-व्यवस्था की बिगड़ी हालत, अतिक्रमण विरोधी अभियान, कृत्रिम बाढ़ और बाढ़ वे भूमि-कटाव से जुड़े हैं।



ये चिट्ठी शनिवार को ही कांग्रेस नेता ने अपने निर्वाचन क्षेत्र नाजिरा से भेजी है। चिट्ठी ज्यूं की त्यूं मीडिया को भी जारी की है। सइकिया ने लिखा है कि हिंदुस्तान पेपर कारपोरेशन लि. के अधीन नगांव कागज कारखाने और कछार कागज कारखाने के श्रमिकों के सामने गंभीर आर्थिक संकट है। 



उनका भविष्य अंधकारमय है। उद्योग विभाग की संसदीय स्थायी समिति ने इसे बंद करने की कोशिश की है। इससे निकट भविष्य में राज्य के दो लाभदायी सार्वजनिक क्षेत्र के बड़े उद्योगों के साथ उनसे जुड़े हजारों परिवारों की रोटी-रोजी बंद हो जाएगी।



नेता विरोधी दल ने मुख्यमंत्री को ध्यान दिलाया है कि दुनिया की सबसे पुरानी असम कंपनी के 12 चाय बगान बंद पड़े हैं। चाय मजदूरों को और अनेक तरह की दुश्वारियों का सामना करना पड़ रहा है।



साथ ही चिट्ठी में नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री से अंग्रेजी माध्यम से पढ़ने वालों को ही प्रस्तावित आदर्श विद्यालयों में नौकरी देने की बात पर हैरानी जताई है।



इसके अलावा सइकिया ने पड़ोसी राज्यों के अतिक्रमण, कानून-व्यवस्था की बिगड़ी हालत, अतिक्रमण विरोधी अभियान, कृत्रिम बाढ़ और बाढ़ वे भूमि-कटाव से जुड़े सभी मुद्दों पर सरकार से जबाव मांगा है।