नगा समझौते पर विस अध्यक्ष बुलाएं विशेष सत्र: देवब्रत

Daily news network Posted: 2017-10-12 12:00:30 IST Updated: 2017-10-12 12:00:30 IST
नगा समझौते पर विस अध्यक्ष बुलाएं विशेष सत्र: देवब्रत
  • प्रतिपक्ष के नेता देवब्रत सइकिया ने वृहत्तर नगालिम को लेकर केंद्र और एनएससीएन (आईएम) के बीच दो साल पहले हुए फेमवर्क करार को लेकर गहरी चिंता जताई

गुवाहाटी।

प्रतिपक्ष के नेता देवब्रत सइकिया ने वृहत्तर नगालिम को लेकर केंद्र और एनएससीएन (आईएम) के बीच दो साल पहले हुए फेमवर्क करार को लेकर गहरी चिंता जताई है। मामले को अमस के अस्तित्व के लिए अत्यंत गंभीर बताते हुए उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष से विशेष अधिवेशन बुलाने की मांग की है।



सइकिया ने कहा कि लंबे समय बाद भी करार में निहित बातों का खुलाना नहीं होना असम की भौगोलिक सीमाओं के खिलाफ है। उन्होंने बताया कि वे प्रधानमंत्री मोदी से समझौते के तमाम बिंदुओं का खुलासा करने की मांग कर चुके हैं। एक साल हो गए, उन्हें पत्र का जवाब नहीं मिला।


उन्होंने कहा कि मीडिया में आ रही बातों से जाहिर होता है कि फ्रेमवर्क करार में असम, मणिपुर और अरुणाचल प्रदेश आदि के नगा आबादी वाले इलाके इनमें शामिल हैं। असम के तिनसुकिया, डिब्रूगढ़, शिवसागर, जोरहाट, गोलाघाट, कार्बी आंग्लोंग, डीमा हासाऊ और नगांव जिलों के कुछ इलाकों में नगा लोग रहते हैं। इन इलाकों में कथित वृहत्तर नगालिम में शामिल किया गया तो असम की भौगोलिक सीमा संकुचित हो जाएगा। नेता विरोधी दल ने राज्य सरकार से इस बारे में केंद्र को अपनी स्थिति बताने को कहा है।