संघ के रिमोट से चल रही बीजेपी सरकार, त्रिपुरा के राज्यपाल बने RSS की आर्मी: डेरेक

Daily news network Posted: 2018-02-14 12:50:44 IST Updated: 2018-02-14 13:29:43 IST
संघ के रिमोट से चल रही बीजेपी सरकार, त्रिपुरा के राज्यपाल बने RSS की आर्मी: डेरेक
  • तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का बचाव करने वाले केंद्रीर गृह राज्रमंत्री किरेन रिजीजू पर हमला बोला तथा आरोप लगाया कि किरेन

अगरतला

तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का बचाव करने वाले केंद्रीर गृह राज्रमंत्री किरेन रिजीजू पर हमला बोला तथा आरोप लगाया कि किरेन रिजीजू ट्वीट के ट्वीट से यह और भी स्पष्ट हो गया है कि सरकार को संघ रिमोट कंट्रोल से चला रहा है।



पार्टी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने पत्रकारों से कहा कि सरकार का एक मंत्री आरएसएस का समर्थन और उसका बचाव कर रहा है। किरेन रिजीजू राज्य मंत्री नहीं, बल्कि संघ के मंत्री हैं। उन्होंने सेना के बारे में भागवत की टिप्पणी और कोलकाता में आरएसएस से जुड़े एक संगठन द्वारा सीमा सुरक्षा पर आयोजित एक कार्रक्रम में सीमा सुरक्षाबल के महानिदेशक केके शर्मा कथित तौर पर शामिल होने का जिक्र किया और कहा कि रह संयोग नहीं हो सकता।




ओ ब्रारन ने आरोप लगाया कि संवैधानिक संस्थान को हाशिए पर डाला जा रहा है। राजभवन अब शाखा बन गए हैं और कुछ राज्यपाल प्रचारक बन चुके हैं। त्रिपुरा के राज्यपाल आरएसएस की एक और ट्रोल आर्मी बन चुके हैं।



आपको बता दें कि सेना पर भागवत की टिप्पणी पर विवाद होने के बाद रिजीजू ने ट्वीट किया कि भागवत ने केवल रह कहा था कि किसी व्यक्ति के प्रशिक्षित सैनिक बनने में छह से सात महीने का समय लगता है और यदि संविधान अनुमति दे तो आरएसएस कैडर योगदान देने की क्षमता रखते हैं।



तृणमूल नेता ने कहा कि रिजीजू के ट्वीट के बाद यह और भी स्पष्ट हो गया है कि इस सरकार को आरएसएस रिमोट कंट्रोल से चला रहा है। पार्टी ने इसे संवैधानिक संस्थानों का खत्म होना करार दिया है। पार्टी द्वारा इस मुद्दे पर संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण में राज्रसभा और लोकसभा में नोटिस दिए जाने की संभावना है। वहीं, राष्ट्रीय स्वरंसेवक संघ (आर.एस.एस) ने आज स्पष्ट किया कि भागवत ने भारतीय सेना और संघ के स्वयंसेवकों की तुलना नहीं की है और मुद्दे पर उनकी टिप्पणी को तोड़ मरोड़कर पेश किया गया है।