शिक्षा मंत्री ने किया असमिया माध्यम की शिक्षा का अपमान : कांग्रेस

Daily news network Posted: 2017-06-20 11:28:19 IST Updated: 2017-06-20 11:29:14 IST
शिक्षा मंत्री ने किया असमिया माध्यम की शिक्षा का अपमान : कांग्रेस
  • प्रदेश कांग्रेस ने आदर्श विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ने वालों को ही शामिल करने के राज्य सरकार के फैसले को लेकर तीखा आक्रोश जताया है

ASSAM

गुवाहाटी । प्रदेश कांग्रेस ने आदर्श विद्यालयों में शिक्षकों की नियुक्ति में अंग्रेजी माध्यम से पढ़ने  वालों को ही शामिल करने के राज्य सरकार के फैसले को लेकर तीखा आक्रोश जताया है। उसके मुताबिक शिक्षा मंत्री हिमंत विश्व शर्मा ने असमिया माध्यम से पढ़ने वालों  को हेय जता अपमान किया है। इस तरह का निर्णय बेतुका है ।

पंद्रह साल तक राज्य की सत्ता पर रह चुकी कांग्रेस इन दिनों खासतौर से अपने पूर्व प्रमुख नेता हिमंत विश्व शर्मा पर हमले का कोई मौका नही छोड़ती। पिछले दिना शिक्षा मत्री ने आदर्श विद्यालयों में  शिक्षक नियुक्ति को लेकर जो बयान दिया था राज्य में उसे लेकर व्यापक प्रतिक्रियाएं हैं। 



प्रदेश  कांग्रेस के प्रवक्ता ऋतुपर्ण कोंवर  व रमन झा के मुताबिक मंत्री इस बारे में तथ्य स्पष्ट नहीं कर  पाए। उन्हें साफ करना चाहिए कि किस आधार पर उन्होंने असमिया माध्यम के सरकारी शिक्षा संस्थानों से  पढे लोगों को आदर्श विद्यालयों में शिक्षक होने लायक नहीं समझा और इस प्रकार से उनकी योग्यता पर सवालिया निशान लगाया है ।

कांग्रेस नेताओं  के  मुताबिक राज्य के असमिया माध्यम के सरकारों स्कूलों  से पढे लिखे  अनगित्तन लोग इस समय देश-विदेश में काफी महत्वपूर्ण  क्षेत्रों में उच्च पदों पर कार्यरत हैं। शायद शिक्षा विभाग के पास इसका सही- सही आंकडा भी नहीं होगा । 



प्रकारांतर से सरकार का उक्त निर्णय इन  तमाम स्वनामधन्य असम संतानों के लिए भी दुखद होगा। उन्होंने शिक्षा मंत्री से अपने निर्णय पर पुनर्विचार और शिक्षा व्यवस्था को गतिशील बनाने की मांग की है ।