पूर्वोत्तर में बाढ़ से हुए नुकसान का आंकलन करेंगे इसरो के विशेषज्ञ

Daily news network Posted: 2017-07-14 11:38:23 IST Updated: 2017-07-14 11:38:23 IST
पूर्वोत्तर में बाढ़ से हुए नुकसान का आंकलन करेंगे इसरो के विशेषज्ञ
  • केन्द्र सरकार ने असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में बाढ़ और भूस्खलन से हुए नुकसान का जिम्मा भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन (इसरो) को दिया

नई दिल्ली।

केन्द्र सरकार ने असम, अरुणाचल प्रदेश और मणिपुर में बाढ़ और भूस्खलन से हुए नुकसान का जिम्मा भारतीय अंतरिक्ष शोध संगठन (इसरो) को दिया है। सरकार ने अथॉरिटीज से पूर्वोत्तर में बाढ़ और भूस्खलन से हुए नुकसान के आंकलन के लिए स्पेस टेक्नोलॉजी व भारतीय स्पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन के विशेषज्ञों का इस्तेमाल करने को कहा है।


पूर्वोत्तर में बाढ़ और भूस्खलन से अभी तक 80 लोगों की मौत हो चुकी है। पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास राज्य मंत्री(स्वतंत्र प्रभार) डॉ जितेन्द्र सिंह ने स्वास्थ्य मंत्रालय से कहा है कि बाढ़ के कारण महामारी ना फैले इसलिए वह कदम उठाएं। जितेन्द्र सिंह ने दूरसंचार मंत्रालय को कम्यूनिकेशन लाइनों की मरम्मत के लिए कहा है। रिव्यू मीटिंग की अध्यक्षता के बाद जितेन्द्र सिंह ने कहा, मैंने पूर्वोत्तर राज्यों के रेजिडेंट कमिश्नरों को स्थिति पर नजर रखने के लिए डीओएनईआर मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय के साथ गहन तालमेल के साथ काम करने को कहा है।


असम और अरुणाचल प्रदेश की स्थिति पर नजर के लिए डीओएनईआर मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय केन्द्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू के नेतृत्व वाली टीम के संपर्क में है। बारिश के कारण हुआ अभूतपूर्व नुकसान हुआ है। अरुणाचल प्रदेश,असम और मणिपुर के 58 जिले बाढ़ और भूस्खलन से प्रभावित हैं। अभी तक 80 लोगों की मौत हो चुकी है।