मोरीगांव जिले में खुला पूर्वोत्तर का पहला फ्लोटिंग सोलर एनर्जी केंद्र

Daily news network Posted: 2017-06-20 11:41:42 IST Updated: 2017-06-20 11:41:42 IST
मोरीगांव जिले में खुला पूर्वोत्तर का पहला फ्लोटिंग सोलर एनर्जी केंद्र
  • मोरीगांव जिला भले ही हर मामले में पिछड़ेपन का शिकार रहा है पर एक खास मामले में यह जिला पूर्वोत्तर में अव्वल हो गया है। जिले के भुरबंधा प्रखंड के तहत खाटरबोडी गांव में पूर्वोत्तर का पहला तैरता सौर ऊर्जा केंद्र (फ्लोटिंग सोलर एनजी पीवी) का आज विधिवत उदूधाटन किया गया

ASSAM

मोरीगांव । मोरीगांव जिला भले ही हर मामले में पिछड़ेपन का शिकार रहा है पर एक  खास मामले  में यह जिला पूर्वोत्तर में अव्वल हो गया है। जिले के भुरबंधा प्रखंड के तहत खाटरबोडी गांव में पूर्वोत्तर का पहला तैरता सौर ऊर्जा केंद्र (फ्लोटिंग सोलर एनजी पीवी) का आज विधिवत उद्घाटन  किया गया, जिसके जरिए इस प्रखंड के तहत तीन अंदरूनी गावों में  ऊर्जा उपलब्ध कराई जा सकेगी।

मालूम हो कि यह फ्लोटिंग एनर्जी केंद्र 15 लाख रूपये की लागत से स्थापित की गई है। राज्य सरकार की विज्ञान एव प्रोद्योगिकी विभाग ने कोबाल्ट सोलर और स्टार्ट -अप -इंडिया  कंपनी लिमिटेड के सहयोग से इसका निर्माण किया हैं।

सूचना एवं  प्रौद्योगिकी विभाग के मंत्री केशव महंत ने इसका विधिवत लोकार्पण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि विज्ञान एवं  प्रौद्योगिकी विभाग ने राज्य के उन अंदरूनी  इलाकों में इस तरह के सौर ऊर्जा  केद्रों की स्थापना की योजना बनाई है जहां के गरीब ग्रामीण लोगों तक बिज़ली सेंवा उपलब्ध कराई जा सके।