असम में बाढ़ से हालात बेकाबू, 5 की मौत, त्रिपुरा में 45000 परिवार बेघर

Daily news network Posted: 2017-08-13 10:50:53 IST Updated: 2017-08-13 10:50:53 IST
असम में बाढ़ से हालात बेकाबू, 5 की मौत, त्रिपुरा में 45000 परिवार बेघर
  • असम में बाढ़ से स्थिति बेहद खराब होती जा रही है। यहां अब तक पांच लोगों के मारे जाने की खबर है

नई दिल्ली।

असम में बाढ़ से स्थिति बेहद खराब होती जा रही है। यहां अब तक पांच लोगों के मारे जाने की खबर है। वहीं त्रिपुरा में भी अचानक बाढ़ आ जाने से अब तक 45000 परिवार बेघर हो चुके हैं। यहां तीन जिलों में बाढ़ ने कहर बरपाया है। 


असम राज्य आपदा मोचन बल (एएसडीएमए) के अनुसार धेमाजी में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि लखीमपुर, कोकराझार और मोरिगांव में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई। इन मौतों के बाद राज्य में इस साल बाढ़ की वजह से मरने वालों की संख्या 89 तक पहुंच गई है। एएसडीएमए ने बताया कि असम के विभिन्न जिलों में बाढ़ से 11 लाख लोग प्रभावित हुए हैं। संस्थान की रिपोर्ट के मुताबिक धुबरी में बाढ़ का सर्वाधिक असर हुआ है, जहां 1.92 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं। इसके बाद धेमाजी में 1.51 लाख लोग इस आपदा से प्रभावित हैं। एएसडीएमए ने बताया कि मौजूदा समय में 1,752 गांव जलमग्न हैं और एक लाख से हेक्टेयर से अधिक की फसल भूमि प्रभावित हो चुकी है।


     

अधिकारिक सूत्रों के अनुसार, त्रिपुरा के तीन जिलों में लगातार हुई बारिश के बाद अचानक बाढ़ आ गई, जिससे यहां के 4,500 परिवार बेघर हो गए हैं। राज्य के राजस्व मंत्री बादल चौधरी ने बताया कि दो हजार से ज्यादा परिवारों को विभिन्न सरकारी इमारतों में शरण लेने को मजबूर होना पड़ा, क्योंकि राज्य की राजधानी का बड़ा हिस्सा और इसके निचले बाहरी इलाके जलमग्न हैं। चौधरी ने कहा कि हावड़ा नदी में पानी खतरे के निशान से उपर बह रहा है। सिपाहीजाला के जिला मजिस्ट्रेट प्रदीप चक्वर्ती ने कहा कि जिले में बाढ़ की वजह से कम से कम 2500 परिवार प्रभावित हुए हैं और उन्होंने सरकारी इमारतों में बनाए गए 60 राहत शिविरों में शरण ली है।