इतिहास में पहली बार होगा ऐसा नजारा , आज रात 12 बजे

Daily news network Posted: 2017-08-12 21:33:31 IST Updated: 2017-08-12 21:33:31 IST
इतिहास में पहली बार होगा ऐसा नजारा , आज रात 12 बजे
  • दुनियाभर के वैज्ञानिकों का मानना है की, आज (12 अगस्त) रात को, रात नहीं होगी बल्कि दिन की तरह उजाला फैला रहेगा। यहां तक की पूरा अंतरिक्ष उजाले से भरा होगा। नासा ने इस बात का दावा किया है कि ये चमत्कार इतिहास में पहली बार होगा।

नई दिल्ली

नई दिल्ली। दुनियाभर के वैज्ञानिकों का मानना है की, आज (12 अगस्त) रात को, रात नहीं होगी बल्कि दिन की तरह उजाला फैला रहेगा। यहां तक की पूरा अंतरिक्ष उजाले से भरा होगा। नासा ने इस बात का दावा किया है कि ये चमत्कार इतिहास में पहली बार होगा।


आज की रात लगभग 60 से 120 उल्काएं टूटकर गिरती हुई दिखाई देंगीं। यह एक अद्भुत दृश्य होगा, जिसमें रात्रि आकाश में पटाखे जैसे चमकीले पिंड छा जाएंगे। इतना ही नहीं एक दावे में यह भी कहा जा रहा है कि ‘’दुनिया की सबसे बड़े वैज्ञानिक संस्थान नासा ने कहा है कि, ऐसा चमत्कार दुनिया में पहली बार होगा।’’ एक दावे में लोगों को डराया भी जा रहा है कि ‘’इसे नहीं देखेने वाले लोगों को बहुत बड़ा नुकसान हो सकता है।’’ 



ज्ञातव्य कि यह खगोलीय घटना प्रति वर्ष जुलाई व अगस्त माह के बीच होती है लेकिन इस बार ये सम्भावना व्यक्त की जा रही है कि इस बार भारी मात्रा में उल्का पिंड आसमान से गिरेंगे जिससे रात में भी आसमान में उजाला रहेगा। इस दौरान हर एक सेकेंड में टूटता उल्का हमें तारें में रूप में दिखाई देगा। आज करीब 100 से 200 उल्काएं पृथ्वी के वातावरण से टकराएंगी, लेकिन चंद्रमा की रोशनी ‌अधिक होने के कारण 50 से 60 प्रति घंटा ही देखी जा सकती है।