जम्मू-कश्मीर: हाथों में हथियार लिए सड़कों पर खुले घूम रहे हैं आतंकी

Daily news network Posted: 2017-04-18 12:34:54 IST Updated: 2017-04-18 12:34:54 IST
जम्मू-कश्मीर: हाथों में हथियार लिए सड़कों पर खुले घूम रहे हैं आतंकी
  • एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ये आतंकी शोपियां, कुलगाम, पुलवामा और अवंतीपोरा में खुलेआम घूम रहे हैं।

नई दिल्ली।

जम्मू कश्मीर के हालात बिगड़ते जा रहे हैं। हाल ही में हुए चुनावों के दौरान भी यहां बड़े पैमाने पर हिंसा हुई थी। वहीं अब खबरें आ रही हैं कि जम्मू कश्मीर के युवा आतंकी संगठनों के साथ मिल रहे हैं। ये युवा हाथों में हथियार लिए दक्षिणी कश्मीर के शोपियां जिले में नजर आ रहे हैं। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि ये आतंकी शोपियां, कुलगाम, पुलवामा और अवंतीपोरा में खुलेआम घूम रहे हैं। 


वहीं कुछ तस्वीरों में ये आतंकी हाथों में एके-47 राइफल लिए शोपियां के एक बाग में नजर आ रहे हैं। सूत्रों ने बताया कि ये युवा लश्कर और हिजबुल जैसे आतंकी संगठनों से जुड़े हुए हैं। बता दें कि बीते साल आठ जुलाई को बुरहान वानी के खात्मे के बाद घाटी के 200 से ज्यादा युवा आतंकी संगठनों में शामिल हो चुके हैं। जम्मू कश्मीर की पुलिस पूरे मामले पर चुप्पी बरते हुए है। पुलिस का सिर्फ यही कहना है कि वह लापता युवाओं के बारे में पता लगा रही है। 


अफसर ने बताया कि इन आतंकियों को सबसे बड़ा फायदा इस बात का मिल रहा है कि इन्हें दक्षिणी कश्मीर के इलाके में अच्छा-खासा जनसमर्थन हासिल है। स्थानीय लोग इन्हें खाना और आसरा देते हैं। एनकाउंटर वाली जगहों पर पथराव और प्रदर्शन की बढ़ती घटनाओं से इन आतंकियों को मिल रहे समर्थन की बात साबित होती है। ऐसी कई घटनाएं हुईं, जब स्थानीय लोगों ने सुरक्षा घेरा तोडऩे की कोशिश की। पुलिस सूत्रों का कहना है कि ये लोग छोटी-छोटी तादाद में एक जगह जुटकर लोगों को संबोधित कर रहे हैं।


कश्मीर में स्कूल-कॉलेज और इंटरनेट बंद, महबूबा ने कैबिनेट की मीटिंग बुलाई

वहीं कश्मीर के विरोध प्रदर्शन में अब कॉलेज और यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट्स शामिल हो रहे हैं। घाटी के सभी 10 जिलों में स्टूडेंट्स सड़क पर उतर आए। ये शनिवार को पुलवामा डिग्री कॉलेज में हुई पुलिस कार्रवाई का विरोध कर रहे थे। स्टूडेंट्स ने पत्थरबाजी भी की। इसमें एक थाना इंचार्ज, 24 पुलिसकर्मी और करीब 36 स्टूडेंट्स घायल हुए। घाटी में एहतियातन इंटरनेट सर्विस बंद कर दी गई है। मंगलवार को सभी स्कूल-कॉलेज भी बंद हैं। तनाव को देखते हुए सीएम महबूबा मुफ्ती ने कैबिनेट की मीटिंग बुलाई है। न्यूज एजेंसी की खबर के मुताबिक, सत्तारूढ़ पीडीपी-बीजेपी गठबंधन सरकार और जम्मू-कश्मीर के अपोजिशन ने स्टूडेंट्स के खिलाफ फोर्स की कार्रवाई की निंदा की है। वहीं स्टूडेंट्स ने घाटी में अपनी क्लासेस का बायकॉट किया।