पाक में चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा भारत का मोस्ट वांटेड टेररिस्ट हाफिज सईद

Daily news network Posted: 2017-02-14 10:50:18 IST Updated: 2017-02-14 14:14:46 IST
पाक में चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहा भारत का मोस्ट वांटेड टेररिस्ट हाफिज सईद
  • भारत का मोस्ट वांटेड टेररिस्ट और 26/11 मुंबई हमले का साजिशकर्ता हाफिज सईद पाकिस्तान में अब चुनाव की लडऩे की तैयारी कर रहा है। इसके लिए उसने बाकायदा पाकिस्तान चुनाव के आयोग के संपर्क भी किया है।

लाहौर।

भारत का मोस्ट वांटेड टेररिस्ट और 26/11 मुंबई हमले का साजिशकर्ता हाफिज सईद पाकिस्तान में अब चुनाव की लडऩे की तैयारी कर रहा है। इसके लिए उसने बाकायदा पाकिस्तान चुनाव के आयोग के संपर्क भी किया है। दरअसल आतंकी संगठन जमात-उद-दावा ने अब अपना नाम बदलकर 'तहरीक आजादी जम्मू एंड कश्मीर' कर दिया है। सूत्रों का कहना है कि हाफिज सईद इसी संगठन का चुनाव आयोग में रजिस्ट्रेशन करवाकर पाकिस्तान में चुनाव लड़ सकता है।

आतंकी संगठन जमात-उद-दावा के सरगना हाफिज सईद की नजरबंदी के बाद पाकिस्तानी आतंकी संगठनों ने अपनी संस्थाओं के नाम बदल दिए हैं। यही नहीं हाफिज की गैरमौजूदगी में आतंकी संगठन जेयूडी का काम उसका बेटा तल्हा सईद देख रहा है। हाफिज सईद के बाद पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ तल्हा सईद के सिर पर है। 

आईएसआई चाहती है कि हाफिज सईद भले नजरबंद रहे, लेकिन उसकी गैरहाजिरी में आतंकवादी गतिविधियां और आतंकवादी भर्ती सहित धन जुटाने का काम तल्हा खुद संभलाता रहे।

लोगों को भड़काता है तल्हा सईद

इसी तल्हा सईद ने 5 फरवरी को लाहौर के नसीर बाग में बुलाई गई रैली में बुरहान वानी और दाऊद इब्राहिम के लिए नारे लगवाए थे। तल्हा सईद ने नारों में 'चाहे गोली मारो-आजादी, चाहे डंडे मारो-आजादी, हम फिर भी लेंगे-आजादी, पुलिस बनोगे- ना भाई ना, एसपी बनोगे- ना भाई ना, टीसी बनोगे- ना भाई ना, वकील बनोगे- ना भाई ना, जज बनोगे- ना भाई ना, बुरहान बनोगे- हां भाई हां..., दाऊद बनोगे- हां भाई हां...' तल्हा सईद लंबे समय से पाकिस्तान में रैलियां करके लोगों को भड़काता है। साथ ही वो पीओके में कई आतंकी शिविर भी चलाता है।

पाक पर अमरीका-चीन का दबाव

खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक, तल्हा सईद को आतंकी ट्रेनिंग खुद उसके चाचा अब्दुर्रहमान मक्की ने दी है। ट्रेनिंग के बाद तल्हा लश्कर के साथ जुड़ गया। आतंकवादी संगठन चलाने के अलावा तल्हा सईद जासूसी के कॉल सेंटर भी चलाता है। 

बहावलपुर में बैठे उसके लोग भारत में कॉल करके लोगों को जासूसी करने के लिए झांसे में फंसाते हैं। पाकिस्तान फि लहाल आतंककारियों पर कार्रवाई करने का दबाव झेल रहा है। 

इसीलिए उसने हाफि ज सईद को नजरबंद कर दिया गया। पाकिस्तान के ऊपर सिर्फ अमरीका ही नहीं चीन का भी दबाव है। चीन ने साफ कह दिया कि लंबे समय तक वो अंतरराष्ट्रीय मंच पर पाकिस्तान का साथ नहीं दे सकता है।