असम और मिजोरम के बाद मणिपुर में भी भारी बारिश, प्रमुख नदियां ऊफान पर

Daily news network Posted: 2017-06-14 14:46:29 IST Updated: 2017-06-14 14:46:29 IST
असम और मिजोरम के बाद मणिपुर में भी भारी बारिश, प्रमुख नदियां ऊफान पर
  • असम और मिजोरम के बाद मणिपुर में भी तेज बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न होने की आशंका है

इंफाल।

असम और मिजोरम के बाद मणिपुर में भी तेज  बारिश के कारण बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न होने की आशंका है। बारिश के कारण कुछ स्थानों पर नदियों का जल स्तर अभूतपूर्वक ढंग से बढ़ गया है। इससे नदियों के तटबंध टूटने का खतरा उत्पन्न हो गया है।


नदी के तटों से लगे इलाकों में रहने वाले लोग बाढ़ की आशंका से डरे हुए हैं। मणिपुर के सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण विभाग के मंत्री लेत्पाओ हाओकिप ने विभाग के अधिकारियों के साथ मंगलवार को नदी तटों से लगे इलाकों का निरीक्षण किया और हालात का जायजा लिया। हालांकि वैली

 में बारिश काफी कम हुई है, लेकिन ऊपरी कैचमेंट इलाके में लगातार मूसलाधार बारिश के कारण वैली एरिया की प्रमुख नदियों का जलस्तर बढ़ गया है। यहां पहले से पानी भरा हुआ है। इस कारण यहां के निवासी आशंकित हैं।


आईएफसीडी ने असुरक्षित स्थानों पर लोगों को बाढ़ नियंत्रण का मैटेरियल सप्लाई किया है। आईएफसीडी के अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार शाम 6 बजे तक इंफाल और नामबुल नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही थी। आईएफसीडी मंत्री हाओकिप ने सेकमई एसी एमएलए और संसदीय सचिव(आरडी एंड पीआर)एच.डिंगो सिंह व अतिरिक्त चीफ इंजीनियर प्रीतम सिंह के साथ कांतो में सेकमई नदी का निरीक्षण किया।


टीम ने खुरखुल मखा ममांग लैकई का भी दौरा किया जहां बाढ़ के पानी से इलाका जलमग्न हो गया था। मंत्री ने अधिकारियों को खुरखुल मखा ममांग लैकई में अस्थायी रिलीफ कैंप खोलने का निर्देश दिया ताकि बाढ़ पीडि़तों को शरण दी जा सके। खोयाथोंग में स्थित चीफ इंजीनियर के दफ्तर में कंट्रोल रूम बनाया गया है। यहां फोन कर बाढ़ से संबंधित जानकारी ली जा सकती है।