मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का किया स्वागत

Daily news network Posted: 2017-07-17 19:03:01 IST Updated: 2017-07-17 19:03:01 IST
मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का किया स्वागत
  • मणिपुर में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने राज्य हुई कथित गोलाबारी के मामलों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबाआई जांच का स्वागत किया हैं।

इंफाल।

मणिपुर में मानवाधिकार कार्यकर्ताओं ने राज्य हुई कथित गोलाबारी के मामलों पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा सीबाआई जांच का स्वागत किया हैं। 



ह्यूमन राइट्स अलर्ट के निदेशक बबलू लिटोंगबाम ने कहा, मैं इस फैसले का स्वागत करता हूं। 



2012 में लापता लोगों के परिवारों के साथ मिलकर सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका दायर की थी जिसमें गोलीबारी के 1,528 मामले दर्ज किए गए थे।



मामले की जांच के लिए अदालत ने 5 सदस्यीय एसआईटी बनाई हैं जो पूरे मामले की जांज करेगी।  



बबलू मे बताया की मामला अभी सीबीआई के पास हैं और इस पर फैसला आना अभी बाकी हैं। लेकिन लोगों में खूशी का माहौल हैं। 



मानवाधिकार कार्यकता राकेश मेहोत्मम ने एक केस पर रोशनी डालते हुए बताया कि कैसे एक 12 साल के लड़के को आतंकवादी बताकर पुलिस और सुरक्षा बलों द्वारा उसे गोलियों से छलनी किया गया। 



जिस पर न्यायधीश ने भी सवाल उठाए थे कि एक 12 साल का लड़का आतंकवादी कैसे हो सकता है और लोगों को कैसे मार सकता है। 



उन्होने ये भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट मे 16 सूत्री निर्देश जारी किया जो नकली गोलाबारी में शामिल पुलिस और सुरक्षा बलों के कर्मचारियों को लोगों को नुकसान पहुंचाने के लिए उन्हे निलंबित करने से लेकर उनके हाथियारों को जब्त किया जाना चाहिए।