भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ तो हम कितने सुरक्षित हैं, बताए सिक्किम सरकार!

Daily news network Posted: 2017-08-12 17:22:38 IST Updated: 2017-08-12 17:22:38 IST
भारत और चीन के बीच युद्ध हुआ तो हम कितने सुरक्षित हैं, बताए सिक्किम सरकार!
  • सिक्किम की यूथ एलाइंस ने डोकलाम में चीन और भारत के बीच युद्ध की स्थिति पैदा होने की खबर पर सिक्किम सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है।

सिक्किम की यूथ एलाइंस ने डोकलाम में चीन और भारत के बीच युद्ध की स्थिति पैदा होने की खबर पर सिक्किम सरकार से स्पष्टीकरण मांगा है। यूथ एलाइंस ने राज्य सरकार से सवाल किया कि क्या डोकलाम में युद्ध होने की स्थिति में सिक्किम के लोग सुरक्षित हैं।


कार्यकर्म संयोजक भानु रसाइली समेत 40 लोगो ने शक्रवार को स्थानीय होटल में पत्रकारों के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस की, जिसमे उन्होंने सरकार से युद्ध की स्थिति में उनके द्वारा उठाये जा रहे कदमों को लेकर सवाल किया उन्होंने कहा कि सिक्किम के डोकलाम क्षेत्र में इस तरह की युद्ध जैसी स्थिति पैदा होने की खबरें आ रही हैं। इन खबरों से यहा के लोग खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इन स्थितियों में भी में राज्य सरकार मौन है। इसी तरह केंद्र सरकार भी सिक्किम के लोगों को सही जानकारी देना अपनी जिम्मेदारी नहीं मान रही है।


डोकलाम  में चीन ने आक्रामक रवैया अपना रखा है और इस पुरे मामले पर भारत के मौन से सिक्किम के लोग पूरी तरह सदमे में हैं। यदि राज्य व केंद्र सरकार इसी तरह से मौन रहे तो विरोध में सड़कों पर उतरना होगा। इसके साथ उन्होंने पवन चामलिंग पर निशाना साधते हुए कहा- पवन चामलिंग लाचार मुख्यमंत्री हैं। मुख्यमंत्री ने सिक्किम चीन व गोरखालैंड के आदोलन के बीच सैंडविच होने का बयान दिया था।


इस तरह के बयान देकर मुख्यमंत्री हकीकत बयान करने से किनारा कर रहे हैं। नीरपद गुरूंग ने मीडिया को बताया कि हम पूरी तरह से राष्ट्र हित के पक्ष में है। और अगर युद्ध की स्थिति उत्पन्न होती है तो हम सेना की भी पूरी मदद करेंगे, लेकिन इस पुरे मामले में जनता को संशय में रखना देश हित में भी नहीं है।