'हिंदी मेरी मातृभाषा नहीं है, लेकिन बोलने में मुझे गर्व की अनुभूति होती है'

Daily news network Posted: 2017-09-15 15:30:35 IST Updated: 2017-09-15 15:30:35 IST
'हिंदी मेरी मातृभाषा नहीं है, लेकिन बोलने में मुझे गर्व की अनुभूति होती है'

नई दिल्ली।

हिन्दी दिवस के मौके पर गृह मंत्रालय द्वारा आयोजित कार्यक्रम में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने कहा कि हिंदी मेरी मातृभाषा नहीं है, लेकिन इस भाषा को बोलने में मुझे गर्व की अनुभूति होती है। साथ ही उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में सभी वर्गों के लोग भारी तादाद में हिन्दी बोलते हैं। 


इस दौरान गृह मंत्री राजनाथ सिंह और राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी मौजूद रहे। राजनाथ सिंह ने कहा कि हिन्दी और समृद्ध बनाया जा सकता है बशर्ते इसे बोलने वाले अन्य भाषाओं के शब्दों का भी इस्तेमाल करें। गृह मंत्री ने बंगलुरु मेट्रो की हाल की घटना का जिक्र किया, जिसमें रेलवे सेवा में हिन्दी भाषा के शब्दों का कन्नड़ समर्थकों ने विरोध किया था। 


वहीं, राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि कुछ लोगों को लगता है कि उन पर हिन्दी थोपी जा रही है। कोविंद ने कहा कि गैर हिंदीभाषी लोग चाहते हैं कि हम उनकी भाषाओं की ओर समुचित ध्यान दें। ऐसे में हिंदीभाषी लोगों को अन्य भाषाओं को भी जगह देनी चाहिए। गैर हिंदी भाषी लोगों और क्षेत्रीय भाषाओं को सम्मान देना हम सबकी जिम्मेदारी है।