मीनाक्षी लेखी ने कहा,त्रिपुरा में कानून व्यवस्था चरमरा गई है

Daily news network Posted: 2017-11-13 17:28:14 IST Updated: 2017-11-13 17:28:14 IST
मीनाक्षी लेखी ने कहा,त्रिपुरा में कानून व्यवस्था चरमरा गई है

अगरतला।

भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने शनिवार को आरोप लगाया कि त्रिपुरा में लेफ्ट फ्रंट के शासन में कानून और व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। लेखी ने कहा, त्रिपुरा में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। लोगों की अपने जीवन और संपत्ति का कोई अधिकार नहीं है। आम लोगों खासतौर पर महिलाओं पर सीपीआई-एम के कैडर्स हमले कर रहे हैं।


आपको बता दें कि त्रिपुरा में अगले साल फरवरी में विधानसभा चुनाव हैं। चुनावों से पहले सत्तारुढ़ सीपीएम और भाजपा के बीच आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है। विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी के प्रचार को तेज करने के मकसद से भाजपा का तीन सदस्यीय संसदीय दल शनिवार को अगरतला पहुंचा। संसदीय दल में मीनाक्षी लेखी के अलावा सरोज पांडे और प्रहलाद पटेल शामिल है। संसदीय दल ने राज्य के विभिन्न इलाकों का दौरा किया और लोगों से बात की।


लेखी ने कहा वह और पार्टी के अन्य सदस्य सीपीआई-एम कैडर्स के लोगों पर खासतौर पर महिलाओं पर हमले के मामले को संसद में उठाएंगे। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बिप्लब कुमार देब ने कहा कि त्रिपुरा में अराजकता का माहौल है। सीपीआई-एम के कैडर्स भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं पर हर दिन हमला करते हैं और पुलिस सरकार के निर्देशों पर निष्क्रिय बैठी हुई है। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि भाजपा 20 सितंबर को पत्रकार भौमिक की हुई हत्या के मामले की सीबीआई से जांच चाहती है लेकिन सरकार ने विशेष जांच टीम गठित कर दी। देब ने इसे सत्तारुढ़ सीपीआई-एम की बी टीम करार दिया।


आपको बता दें कि गुरुवार रात पश्चिमी त्रिपुरा के सिपाहीजाला जिले के बिशालगढ़ में भाजपा व सीपीआई-एम समर्थकों के बीच हुए हिंसक संघर्ष में करीब 10 लोग घायल हो गए थे। दोनों दलों के समर्थकों के बीच संघर्ष सिपाहीजाला जिले के बिशालगढ़ में हुआ। इसके बाद बिशालगढ़ उपखंड में तनाव उत्पन्न हो गया था। दोनों दलों के समर्थकों के बीच हिंसक संघर्ष तब शुरू हुआ जब सिपाहीजाला जिले के बिशालगढ़ सबडिवीजन के मुराबारी गांव की एक स्कूल के सामने दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच तीखी नोंकझोंक हो गई थी। भाजपा प्रवक्ता मृणाल कांति देब ने आरोप लगाया था कि लेफ्ट फ्रंट के कुछ समर्थकों ने हमारी पार्टी के समर्थकों पर हमला किया।


देब ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं को आतंकित किया जा रहा है।उधर सीपीएम के स्टेट सेक्रेटरी बिजान धर ने कहा कि अगर हमले हुए तो पार्टी समर्थक कड़ा विरोध करेंगे। भाजपा विधानसभा चुनाव से पहले त्रिपुरा में अशांति फैलाने की कोशिश कर रही है। अगर हमारे पार्टी कार्यकर्ताओं पर हमले हुए तो हम किसी को छोड़ेंगे नहीं।