सेक्स रैकेट में पकड़ी गई मेघालय की लड़की, भाजपा नेता करवाता था गंदा काम

Daily news network Posted: 2017-05-20 11:51:59 IST Updated: 2017-05-20 11:51:59 IST
सेक्स रैकेट में पकड़ी गई मेघालय की लड़की, भाजपा नेता करवाता था गंदा काम
  • पुलिस ने एक बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इस मामले में एक भाजपा नेता का नाम आने के बाद उसे पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है

नई दिल्ली।

भोपाल पुलिस ने एक बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इस मामले में एक भाजपा नेता का नाम आने के बाद उसे पार्टी से निष्कासित कर दिया गया है। वहीं भाजपा नेता की गिरफ्तारी के बाद कई मंत्री और विधायकों के नाम भी उजागर हो सकते हैं, जिन्हें ये लड़कियां सप्लाई करता था। पुलिस ने इन लोगों के कब्जे से महाराष्ट्र और मेघालय की 4 लड़कियों को छुड़ाया है।



पुलिस ने इस सेक्स रैकेट में शामिल 9 लोगों को मौके से गिरफ्तार किया है। यह गैंग भोपाल के पॉश इलाका अरेरा कॉलोनी में इस कारोबार को चला रहा था। ये गिरोह लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर उनसे यहां पर जिस्मफरोशी का धंधा करवाता था। बता दें कि पुलिस ने जिस बीजेपी के लीडर को इस गैंग को चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है, वह नीजर शाक्य अनुसूचित जाति मोर्चा का मीडिया प्रभारी है। गिरफ्तारी के बाद उसे पार्टी से निकाल दिया गया है।



पुलिस ने बताया कि इस गिरोह के तार देश के अन्य राज्यों तक भी फैले हुए हैं। ये लोग एक वेबसाइट के जरिए लोगों से कॉन्टैक्ट करते थे। वहीं लड़कियों को नौकरी के लिए वेबसाइट के जरिए बड़े-बड़े वादे कर बुला लेते थे इसके बाद उन्हें जिस्मफरोशी करने को मजबूर करते थे। साइबर सेल ने जिन लोगों को गिरफ्तार किया है उनके नाम हैं- रवि प्रजापति, हरजीत धनवानी, सुरेश गेहलोत, दिनेश, मनोज, कृष्णकुमार, सुरेश, मिसबाउद्दीन और नीरज। वहीं एक अन्य आरोपी सुभाष फिलहाल पुलिस की गिरफ्त से बाहर है।



साइबर सेल एसपी चौहान का कहना है कि वीरू की गिरफ्तारी से कई राज खुलेंगे। पुलिस भोपाल, जबलपुर, रीवा में उसकी तलाश कर रही है। शाहपुरा में रहने वाली उसकी गर्लफ्रेंड भी फरार है। उसका यह धंधा ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर, होशंगाबाद, इटारसी और रीवा तक फैला है। हर शहर में उसके एजेंट हैं। बीजेपी नेता नीरज शाक्य और सरगना वीरू ने (भोपाल कॉलगर्ल डॉट इन) नाम से तीन माह पहले वेबसाइड बनवाई थी। इस वेबसाइट के जरिए ही वह ग्राहकों को फंसाता था। वेबसाइड में मौजूद कॉलगर्ल की फोटो, समय अनुसार रेट लिखा है। ग्राहक से फोन पर बात होते ही कॉलगर्ल उपलब्ध करा दी जाती थी। 10 हजार से लेकर डेढ़ लाख रुपए तक की कॉलगर्ल को अपने गिरोह में शामिल कर रखा था।



भोपाल स्कार्ट नाम से वेबसाइट पर गिरोह मोटी रकम लेकर लड़कियों की बुकिंग कर रहा था। इसके लिए मेघालय और महाराष्ट्र से लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर लाए थे और देह व्यापार करवा रहे थे। पुलिस ने इस गिरोह को दबोचकर बड़े स्तर पर सैक्स रैकेट का भंड़ाफोड़ कर चारों युवतियों को अपना गवाह बना लिया है। पुलिस ने बीजेपी नेता नीरज शाक्य समेत सभी 8 आरोपियों के खिलाफ मानव तस्करी, खरीद-फरोख्त कर देह-व्यापार में धकेलने की धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।इस वेबसाइट का पता चलने के बाद साइबर सेल पुलिस को ग्राहक बनाकर गिरोह के पास भेजा गया। जब वे पुलिस के फैलाए जाल में फंस गए तो सेक्स रैकेट का खुलासा हो गया। हालांकि गिरोह का शातिर सरगना बीरू उर्फ वीर उर्फ सुभाष द्विवेदी मौके से फरार हो गया। वह राजधानी के कई नामी होटलों में बड़े और हाई-प्रोफाइल स्तर पर लड़कियां सप्लाई करवाता है।