20 मार्च को मणिपुर की भाजपा सरकार की होगी 'अग्नि परीक्षा'

Daily news network Posted: 2017-03-18 11:54:11 IST Updated: 2017-03-18 12:09:09 IST
20 मार्च को मणिपुर की भाजपा सरकार की होगी 'अग्नि परीक्षा'
  • मणिपुर की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार 20 मार्च को विश्वास मत हासिल करेंगी। मुख्यमंत्री एन.बीरेन ने राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला द्वारा दिए गए कार्यक्रम के मद्देनजर शक्ति प्रदर्शन का निर्णय लिया है ताकि विधानसभा का सत्र तत्काल शुरू हो सके।

इम्फाल।

मणिपुर की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नीत सरकार 20 मार्च को विश्वास मत हासिल करेंगी। मुख्यमंत्री एन.बीरेन ने राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला द्वारा दिए गए कार्यक्रम के मद्देनजर शक्ति प्रदर्शन का निर्णय लिया है ताकि विधानसभा का सत्र तत्काल शुरू हो सके। 

सबसे वरिष्ठ सदस्य एस बीरा को अस्थाई अध्यक्ष नामांकित किया गया है। नवनिर्वाचित सदस्य 19 मार्च को शपथ लेंगे और इसके अगले दिन विश्वास मत के बाद विधानसभा के नए अध्यक्ष का चयन किया जाएगा।

हेपतुल्ला 21 मार्च को विधानसभा के सत्र को संबोधित करेगी। शपथ लिए जाने के बाद बीरेन यूनाइटेड नगा काउंसिल (यूएनसी) द्वारा की गई आर्थिक नाकेबंदी को समाप्त कराने का प्रयास करेंगे। यूएनसी ने चुनावों में नगा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) का समर्थन किया है जो गठबंधन का हिस्सा है और उसे कैबिनेट में जगह भी दी गई है।

राज्य सरकार लोगों की कठिनाइयों को देखते हुए यूएनसी से नाकेबंदी समाप्त करने की अपील करेगी। राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में इस संबंध में पहला निर्णय लेते हुए एक अपील भी जारी की जाएगी। राज्य सरकार ने शुक्रवार को वार्ता का भी प्रस्ताव रखा है। 

भाजपा को 60 सदस्यीय विधानसभा में 21 सीटें मिली थीं और उसने नेशनल पीपुल्स पार्टी (एनपीपी) और नागा पीपुल्स फ्रंट (एनपीएफ) के चार-चार विधायकों के समर्थन और अन्य दलों और निर्दलीय विधायकों के सहयोग से बहुमत के जादुई आंकड़े को हासिल किया था। इबोबी सिंह की नेतृत्व वाली पूर्व कांग्रेस सरकार 60 सदस्यीय विधानसभा में 28 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी थी। कांग्रेस बहुमत साबित करने में विफल रही और इस तरह इबोबी सिंह की सरकार का 15 वर्षों का कार्यकाल समाप्त हो गया।