अब एटीएम के पिन नंबर याद रखने की जरूरत नहीं,ऐसा होगा पेमेंट

Daily news network Posted: 2017-04-21 11:39:27 IST Updated: 2017-04-21 11:39:27 IST
अब एटीएम के पिन नंबर याद रखने की जरूरत नहीं,ऐसा होगा पेमेंट
  • नए कार्ड में चिप तकनीक को फिंगरप्रिंट के साथ जोड़ा गया है

नई दिल्ली।

कहीं भी कार्ड से पेमेंट करने के लिए चार अंकों का पिन याद रखना जरूरी होता है, लेकिन जल्द ही नेक्स्ट जनरेशन बायोमेट्रिक कार्ड लॉन्च होंगे, जिनसे आप उंगलियों की मदद से पेमेंट कर पाएंगे। नए कार्ड में चिप तकनीक को फिंगरप्रिंट के साथ जोड़ा गया है। इससे स्टोर में खरीदी के दौरान कार्ड होल्डर की पहचान सत्यापित हो सकेगी। 


फिलहाल दक्षिण अफ्रीका में इन नए कार्ड्स को लेकर दो फेज में ट्रायल हुए हैं। इस दौरान इन कार्ड्स से पेमेंट आसानी से हुए। यूरोप और एशिया में इनका ट्रायल अगले कुछ महीनों में किया जा सकता है। ग्लोबल पेमेंट और फाइनेंशियल सर्विस देने वाली कंपनी मास्टरकार्ड का कहना है कि अगले साल की शुरुआत तक अमरीका में इसका इस्तेमाल शुरू किया जा सकता है। बता दें कि मास्टरकार्ड से हर मिनट 65 हजार ट्रांजेक्शन होते हैं। खास बात यह है कि इस तकनीक में चार डिजिट वाला पर्सनल आइडेंटिफिकेशन नंबर(पिन)एंटर करने की जरूरत नहीं होगी। 


पेमेंट कार्ड पर बायोमेट्रिक सेंसर लगा होगा,जो फिंगर प्रिंट स्कैन करेगा। पेमेंट के लिए यूजर को सिर्फ सेंसर पर उंगली रखनी होगी। कार्ड पर मैग्नेटिक स्ट्रिप भी नहीं होगी। नए कार्ड के लिए एनरोलमेंट सेंटर(शायद बैंक)जाना होगा,जहां पर कार्ड होल्डर्स के फिंगरप्रिंट स्कैन किए जाएंगे और ये डेटा कार्ड में ट्रांसफर कर दिया जाएगा। साथ ही डाटा कार्ड पर लगी ईएमवी चिप में सेव हो जाएगा। नई तकनीकी में कार्ड पर ही सेंसर दिया गया है। स्टोर में पेमेंट करते समय कार्ड पर उंगली रखनी होगी जबकि आधार सिस्टम में कार्ड की जरूरत ही नहीं है। 


बस,स्टोर को आधार नंबर और बैंक का नाम देना होगा। स्टोर ओनर अपनी मशीन बैंक से कनेक्ट करेगा और आधार नंबर डालेगा। बैंक आपकी पहचान वैरिफाई करने के लिए कहेगा,जैसे ही आप सेंसर पर अंगूठा रखेंगे और डाटा मैच होगा,वैसे ही पेमेंट हो जाएगा। दावा किया जा रहा है कि नए कार्ड में पारंपरिक कार्ड्स के मुकाबले ज्यादा सिक्योरिटी मिलेगी। पिन चोरी होने,अनुमान लगाने या भूलने की गुंजाइश रहती है। जहां पिन के 10 हजार कॉम्बिनेशंस हैं वहीं फिंगरप्रिंट का 50 हजार में से केवल एक ही चांस किसी के सात मैच होने का रहता है। ज्यादातर लोग याद रखने के लिए पिन 1234 रखते हैं,जो आसानी से गेस किए जा सकते हैं।