मेघालय: पादरी के खिलाफ फेक न्यूज चलाने वाले फिरोज ने किया सरेंडर

Daily news network Posted: 2017-06-20 17:26:06 IST Updated: 2017-06-20 17:26:06 IST
मेघालय: पादरी के खिलाफ फेक न्यूज चलाने वाले फिरोज ने किया सरेंडर
  • कथित रूप से फेक न्यूज एजेंसी के संपादक फिरोज जी.मोमिन ने सोमवार को गारो पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया

रेसुबेलपाड़ा।

कथित रूप से फेक न्यूज एजेंसी के संपादक फिरोज जी.मोमिन ने सोमवार को गारो पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। पुलिस को उसकी कई दिनों से तलाश थी। फिरोज 24 घंटे गारो नेशनल न्यूज लाइन (जीएनएन) चलाता था। वह सोशल मीडिया पर गलत खबरों को अपडेट करता था। 30 साल का मोमिन नॉर्थ गारो हिल्स के बजेंग्दोबा का रहने वाला है। वह फेक न्यूज एजेंसी जीएनएन का स्वयं भू संपादक बन गया था। 



मोमिन तेंग्सरंग ए संगमा, रुराम सुरेंग और सोनारमनी डे सुद्रांग का करीबी था। इन लोगों ने एक फेक न्यूज रिपोर्ट पोस्ट की थी। न्यूज में एक पादरी पर लड़की के बलात्कार का आरोप लगाया था। यह पोस्ट फेसबुक पर वायरल हो गई थी। 12 जून को मोमिन के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया था। पादरी ने मोमिन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी, जिसके बाद मोमिन के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी किया गया था। पादरी का कहना था कि सोशल मीडिया पर फेक न्यूज चलाकर उनकी छवि को खराब की गई। अन्य गैर कानूनी न्यूज एजेंट हैं, द गारो हिल्स टाइम्स, सिमसांग टाइम्स, रेसु नोकसिक नोकबाक और बजेंगदोबा टाइम्स।




सुप्रिया डी मोमिन और तेंग्सरांग ए.संगमा के बयानों के आधार पर पुलिस ने जांच शुरू की। इस दौरान यह जानकारी मिली कि मोमिन ने तेंग्सरांग की साउथ गारो हिल्स के एमांग्रे यूनिट के जीएसयू सेक्रेटरी के रूप में एक्ट करने में मदद की थी, ताकि व्यापारियों से पैसा वसूला जाए। आपको बता दें कि जिस पादरी ने अपनी छवि खराब करने का आरोप लगाया है वह सभी उग्रवादियों को मुख्यधार में लाने के लिए जारी शांति प्रक्रिया में एक्टिवली पार्टिसिपेट कर रहे है।