मिजोरमः 22 किलो ड्रग्स के साथ दो तस्कर गिरफ्तार!

Daily news network Posted: 2017-05-18 18:41:31 IST Updated: 2017-05-18 18:41:31 IST
मिजोरमः 22 किलो ड्रग्स के साथ दो तस्कर गिरफ्तार!
  • दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मादक पदार्थ की तस्करी में दिल्ली निवासी तस्कर अशोक कुमार सहित मिजोरम के तस्कर लालमुआनकिमा को गिरफ्तार किया गया है।

नई दिल्ली।

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मादक पदार्थ की तस्करी में दिल्ली निवासी तस्कर अशोक कुमार सहित मिजोरम के तस्कर लालमुआनकिमा को गिरफ्तार किया गया है। 



उनके पास से भारी मात्रा में 22.5 किलो इफेड्रिन की खेप बरामद की गई है। आरोपी मादक पदार्थ को परिष्कृत कर पार्टी ड्रग्स तैयार करते थे। इसकी कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में 22 करोड़ रुपये आंकी गई है। 



तस्कर ड्रग की आपूर्ति दिल्ली-एनसीआर व पंजाब सहित उत्तर पूर्वी राज्यों में करते थे। आरोपियों के पास से तस्करी के दौरान प्रयुक्त कार और उनके मोबाइल फोन इत्यादि भी जब्त कर लिए गए हैं।



स्पेशल सेल के पुलिस उपायुक्त संजीव कुमार यादव ने बताया कि दो महीने से सेल के अधिकारी इफेड्रिन के तस्करों पर नजर रखे हुए हैं। जानकारी मिली थी कि तस्कर इससे निर्मित पार्टी ड्रग की आपूर्ति दिल्ली सहित देश के अन्य हिस्से में कर रहे हैं। 



एसीपी अखिलेश्वर स्वरूप यादव की टीम ने 15 मई को द्वारका इलाके दो तस्कर अशोक कुमार और लालमुआनकिमा को गिरफ्तार कर लिया। उनके पास से 22.5 किलो इफेड्रिन बरामद हुई।



लालमुआनकिमा अशोक कुमार से ड्रग की खेप लेने आया था। बाद में इस ड्रग को वह द्वारका में रहने वाले एक विदेशी तस्कर को सौंप देता। पूछताछ में पता चला कि अशोक दिल्ली की एक फार्मा कंपनी में काम कर रहा है। लिहाजा उसे पता था कि इफेड्रिन द्वारा पार्टी ड्रग बनाया जाता है।



लिहाजा कई कंपनियों से ड्रग एकत्र कर उसे परिष्कृत कर उसकी तस्करी करता था। भारी मुनाफा होने के कारण वह यह अवैध कारोबार कर रहा था। अधिकारी ने बताया कि पार्टी ड्रग की दिल्ली व एनसीआर सहित बड़े शहरों में भारी मांग है। कालेज के छात्र और युवाओं के बीच यह खासा लोकप्रिय मादक पदार्थ है। शीतलपेय में डालकर भी इसका सेवन किया जाता है। 



लालमुआनकिमा ने पुलिस को बताया कि वह मिजोरम के तस्कर आईजावल के लिए काम करता है। उसने ही ड्रग की खेप लेने के लिए उसे मिजोरम से दिल्ली भेजा था। एक बार तस्करी के लिए उसे 25 हजार रुपये दिए जाते थे।