नजमा हेपतुल्ला ने कहा,मोदी कराएंगे इजरायल-फिलस्तीन के बीच दोस्ती

Daily news network Posted: 2018-02-14 19:54:48 IST Updated: 2018-02-14 19:54:48 IST
नजमा हेपतुल्ला ने कहा,मोदी कराएंगे इजरायल-फिलस्तीन के बीच दोस्ती
  • मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मध्यस्थता के जरिए फिलस्तीन और इजरायल के बीच शांति स्थापित कराएंगे क्योंकि वह ग्लोबल लीडर हैं।

नई दिल्ली

मणिपुर की राज्यपाल नजमा हेपतुल्ला ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मध्यस्थता के जरिए फिलस्तीन और इजरायल के बीच शांति स्थापित कराएंगे क्योंकि वह ग्लोबल लीडर हैं। दोनों पक्ष उन पर भरोसा रखते हैं। नजमा हेपतुल्ला ने पीएम मोदी के फिलस्तीन दौरे को महत्वपूर्ण करार देते हुए कहा कि वह खुद भी करीब 40 साल से इस मुद्दे में (फिलस्तीन व इजरायल के बीच संघर्ष)में इन्वॉल्व हैं। अपने अनुभव के आधार पर वह कह सकती हैं कि मोदी दोनों देशों के बीच शांति स्थापित करा सकते हैं। दिल्ली में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान नजमा हेप��ुल्ला ने पत्रकारों से कहा, मैं नहीं जानती यह कब और कैसे होगा




लेकिन मुझे लगता है कि इजरायल व फिलस्तीन के लोगों का मोदी में भरोसा है। प्रधानमंत्री मध्यस्थ के रूप में एक्ट करेंगे और दोनों देशों के बीच संकट का हल निकाल लेंगे। पीएम मोदी पिछले ह ते फिलस्तीन गए थे। वहां उन्हें फॉरेन डिग्निटेरीज को दिए जाने वाले सर्वोच्च स मान ग्रांड कॉलर ऑफ द स्टेट ऑफ फिलस्तीन से स मानित किया गया था। मणिपुर की राज्यपाल ने कहा कि पीएम मोदी के फिलस्तीन दौरे से यह स्पष्ट हुआ है कि वहां के लोगों का उनमें भरोसा है। फिलस्तीन में उन्हें जो स मान मिला वह प्रदर्शित करता है कि पीएम मोदी को वल्र्ड लीड र के रूप में स्वीकार किया गया है। 




दिल्ली दौरे पर आई मणिपुर की राज्यपाल ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की और उन्हें मणिपुर में कानून व्यवस्था की स्थिति में हुए सुधार के बारे में जानकारी दी। साथ ही उनसे क्षेत्र में फैली ड्रग एब्यूज की समस्या के समाधान के तरीकों पर चर्चा की। हेपतुल्ला ने गृह मंत्रालय के उस प्रस्ताव का जिक्र किया जिसमें कहा गया है कि सीमावर्ती इलाकों में ड्रग व हथियारों की तस्करी पर नियंत्रण के लिए मूवमेंट पर निगरानी व रोक के वास्ते वीजा या प्रमाण पत्र जारी किए जाए। उन्होंने कहा कि गृह मंत्र��लय ने अच्छी शुरुआत की है। इसके तहत 15 दिन के लिए प्रमाण पत्र या वीजा दिए जाएंगे ताकि भारत के लोग आराम से  यांमार जा सकें और  यांमार के लोग भी आरम से बॉर्डर के जरिए भारत आ सकें। 




मणिपुर की राज्यपाल ने कहा कि इससे गैर कानूनी मूवमेंट पर नियंत्रण लगेगा और रिकॉर्ड भी मैनटेन किया जा सकेगा जिससे ड्रग्स, हथियार और गोला बारुद की तस्करी पर नियंत्रण में मदद मिलेगी। हेपतुल्ला ने कहा कि मणिपुर में पिछले कुछ महीनों में कानून व्यवस्था की स्थिति में सुधार हुआ है। शाम 7 बजे बाद भी बाजार खुले रहते हैं। फिरौती के मा मले बंद हो गए हैं। चुनाव भी शांति पूर्वक हुए हैं। हेपतुल्ला ने कहा कि वह मणिपुर में पर्यटन को प्रमोट करना चाहती हैं। इस लक्ष्य को प्राप्त करने में खराब कनेक्टिविटी बड़ी बाधा है। उन्होंने नागरिक उड्डयन मंत्रालय से अनुरोध किया था कि दिल्ली से इंफाल के लिए सीधी उड़ानें शुरु की जाएं,जिसके बाद एयर इंडिया ने एक उड़ान शुरू की है।