नागालैण्ड: डैमेज कंट्रोल में जुटे लिजित्सु, जेलियांग और 9 विधायकों का निलंबन रद्द

Daily news network Posted: 2017-07-14 13:03:08 IST Updated: 2017-07-14 13:03:08 IST
नागालैण्ड: डैमेज कंट्रोल में जुटे लिजित्सु, जेलियांग और 9 विधायकों का निलंबन रद्द
  • नागालैण्ड में जारी राजनीतिक संकट के बीच मुख्यमंत्री एस.लिजित्सु और उनकी पार्टी डैमेज कंट्रोल में जुटी है।

कोहिमा।

नागालैण्ड में जारी राजनीतिक संकट के बीच मुख्यमंत्री एस.लिजित्सु और उनकी पार्टी डैमेज कंट्रोल में जुटी है। एनपीएफ के विधायक दल ने गुरुवार को पूर्व मुख्यमंत्री टीआर जेलियांग, लोकसभा सांसद एन.रियो और 9 अन्य विधायकों को निलंबित करने का आदेश वापस ले लिया है। यह फैसला एनपीएफ और एनपीएफ के केन्द्रीय नेताओं के बीच परामर्शक मीटिंग के दौरान लिया गया। यह मीटिंग मुख्यमंत्री के रेजिडेंशियल ऑफिस पर हुई थी।


प्रस्ताव की एनपीएफ के प्रवक्ता अचुमबेमो किकोन ने पुष्टि की है। जेलियांग,रियो और 9 विधायकों के निलंबन का आदेश आदेश उस वक्त वापस लिया गया है जब 15 जुलाई तक विधानसभा में मुख्यमंत्री को विश्वास मत हासिल करना है। राज्यपाल पी.बी.आचार्य ने मुख्यमंत्री एस.लिजित्सु को विधानसभा में 15 जुलाई या उससे पहले बहुमत साबित करने को कहा है। लिजित्सु को 10 नॉर्दन अंगामी-1 विधानसभा सीट पर उप चुनाव से पहले बहुमत साबित करना है। इस सीट पर 29 जुलाई को उप चुनाव है।


एनपीएफ के जिन सदस्यों का निलंबन आदेश वापस लिया गया है उनमें टीआर जेलिया ंग,वाई पत्तन, सी.किपिली संगताम,जी.केईतो आये, इमकोंग एल.इम्चेन, शेतोयी, नूक्लुतोषी,देव नुखू, नैबा कोन्याक, बेंग्जोंगलिबा ए.और एन.रियो शामिल है। रिवोकेशन ऑर्डर उस प्रस्ताव का हिस्सा है जिस पर एनपीएफ के कार्यवाहक अध्यक्ष अपोंग पोंगनेर के हस्ताक्षर हैं। किकोन ने कहा,निलंबन के आदेश को वापस लेते वक्त सदस्यों ने साधारणत: नगाओं और खासतौर पर पार्टी के हितों को गंभीरता से ध्यान में रखा।


यह नगा लोगों के लिए पार्टी में बेहतर अंडरस्टैंडिंग और सच्चे पुर्नमिलन के लिए किया गया। किकोन ने कहा कि मतभेदों के बावजूद एनपीएफ एक है। उन्होंने कहा कि पार्टी ने यह फैसला इस उम्मीद में लिया है कि आंदोलनरत दोस्त सकारात्मक जवाब देंगे। किकोन ने दावा किया कि एनपीएफ सेंट्रल पुर्नमिलन में किसी तरह की मुश्किल पैदा नहीं करेगा। आपको बता दें कि जेलियांग सहित 10 विधायकों को 8 जुलाई को निलंबित कर दिया गया था। जबकि लोकसभा सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री एन.रियो को 17 मई 2016 को निलंबित किया गया था।