अब हर दिव्यांग व्यक्ति को उपचार के लिये मिलेंगे 5,000 रुपये

Daily news network Posted: 2017-12-04 09:27:16 IST Updated: 2017-12-04 09:27:16 IST
अब हर दिव्यांग व्यक्ति को उपचार के लिये मिलेंगे 5,000 रुपये
  • गुवाहाटी में दिव्यांगों के लिए योजना शुरू करने गए उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने आज एक ऐसे समावेशी समाज का आवान किया जिसमें दिव्यांगजनों से कोई भेदभाव ना हो।

गुवाहाटी

गुवाहाटी में दिव्यांगों के लिए योजना शुरू करने गए उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने आज एक ऐसे समावेशी समाज का आवान किया जिसमें दिव्यांगजनों से कोई भेदभाव ना हो।

अंतरराष्ट्रीय विकलांगजन दिवस के अवसर पर गुवाहाटी में दीन दयाल दिव्यांगजन सहज्य योजना का शुभारंभ करते हुए नायडू ने कहा कि लोगों को दिव्यांगजनों के साथ संवेदना जतानी चाहिए ना कि सहानुभूति।


इस योजना के तहत राज्य का हर दिव्यांग व्यक्ति अपने उपचार के लिये एक बार 5,000 रुपये की अनुदान राशि लेने का हकदार होगा।उन्होंने कहा, सोच प्रक्रिया को बदलने की आवश्यकता है क्योंकि सिर्फ कानून बना देने भर से दिव्यांगजनों के हालात सुधारने में मदद नहीं मिलेगी।


प्रणाम कानून लाने के लिये उपराष्ट्रपति ने असम सरकार की तारीफ भी की। इस कानून के तहत सभी सरकारी कर्मचारी अपने परिवार के बुजुर्गों एवं दिव्यांग सदस्यों के लिये अपने वेतन से योगदान देते हैं ।


उन्होंने अधिकारियों से सार्वजनिक जगहों को दिव्यांग एवं बुजुर्गों लोगों की पहुंच योग्य बनाने के लिये कहा ताकि वे किसी अवसर से वंचित नहीं रहें। उन्होंने कहा कि इसके लिये समूचे समाज को उनकी हर संभव मदद के लिये प्रोत्साहित करना चाहिए। राज्य सरकार यह सुनिश्चित करे कि विभिन्न योजनाओं के तहत मिलने वाला लाभ सभी लाभार्थियों को मिले।


उन्होंने बैंकों एवं विाीय संस्थानों से भी आवान किया कि वे ऐसे लोगों को आसान एवं सरल प्रक्रिया में कर्ज उपलब्ध करायें। इस अवसर पर असम के राज्यपाल जगदीश मुखी, मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल और सामाज कल्याण मंत्री नाबा कुमार दोली भी उपस्थित थे।