एनजीटी ने असम सरकार को कहा- 'काजीरंगा में सेंसर युक्त फाटकों को सुधारे'

Daily news network Posted: 2017-08-13 17:04:11 IST Updated: 2017-08-13 17:04:11 IST
एनजीटी ने असम सरकार को कहा- 'काजीरंगा में सेंसर युक्त फाटकों को सुधारे'
  • काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के समीप हुई सड़क दुर्घटना में मारे गए जानवरों पर चिंता जताते हुए राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण एनजीटी ने असम सरकार को एनिमल कॉरिडोर में लगे सेंसर-संचालित स्वाचालित यातायात फाटकों को सुधारने के निर्देश दिए हैं।

नई दिल्ली।

काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के समीप हुई सड़क दुर्घटना में मारे गए जानवरों पर चिंता जताते हुए राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण एनजीटी ने असम सरकार को एनिमल कॉरिडोर में लगे सेंसर-संचालित स्वाचालित यातायात फाटकों को सुधारने के निर्देश दिए हैं।



एनजीटी अध्यक्ष न्यायमूर्त स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली एक पीठ ने असम सरकार को एक हलफनामा दाखिल करने और पीठ को फाटकों के तकनीकी एवं परिचालन संबंधी पहलुओं के बारे में सूचित करने का निर्देश दिया है।



असम सरकार ने हरित प्राधिकरण को बताया कि वह भारतीय वन्यजीव संस्थान डब्ल्यूआईआई द्वारा सेंसर फाटकों पर दिये गये सुझावों को गौर से देखेगी और उचित परामर्श के बाद उन्हें अमल में लाएगी।



अतिरिक्त मुख्य सचिव के वी इयपन इस सुनवाई में मौजूद थे। उन्हें बताया कि डब्ल्यूआईआई ने असम सरकार द्वारा लगाए गए सेंसर फाटकों को सुधारने के लिए कुछ सुझाव दिए हैं।



उन्होंने पीठ को बताया 8220इनका पालन किया जाएगा और भारतीय वन्यजीव संस्थान से मरिा कर 30 सितंबर 2017 तक सुधार कर लिया जाएगा। इसके बाद वह और अधिक सेंसर फाटक लगाएंगे खासकर उन क्षेत्रों में जिन्हें एनिमल कॉरिडोर के नाम से जाना जाता है।8221 मामले में अगली सुनवाई 10 अक्टूबर को होगी।