नागालैंड चुनाव जीतने के लिए बीजेपी ने चली ऐसी चाल, भड़के असदुद्दीन ओवैसी

Daily news network Posted: 2018-02-15 10:56:14 IST Updated: 2018-02-15 10:56:14 IST
नागालैंड चुनाव जीतने के लिए बीजेपी ने चली ऐसी चाल, भड़के असदुद्दीन ओवैसी
  • बीजेपी उत्तर-पूर्व के राज्य नगालैंड में चुनावी फायदे के लिए ईसाइयों को यरुशलम की मुफ्त यात्रा पर भेजने का वादा कर रही है

बीजेपी उत्तर-पूर्व के राज्य नगालैंड में चुनावी फायदे के लिए ईसाइयों को यरुशलम की मुफ्त यात्रा पर भेजने का वादा कर रही है। इस बात की पुष्टि नहीं हो पाई है कि यह वादा देश के सभी ईसाइयों के लिए है या केवल उत्तर-पूर्व के ईसाइयों के लिए या फिर सिर्फ नगालैंड के ईसाइयों के लिए है। एजेंसियों के मुताबिक, बीजेपी ने वादा किया है कि अगर नगालैंड में उनकी सरकार बनती है तो ईसाईयों को यरुशलम की मुफ्त यात्रा पर भेजा जाएगा।


नगालैंड बीजेपी प्रवक्ता जेम्स विजो का कहना है, ‘अगर हमारी पार्टी जीतती

है तो हम कुछ वरिष्ठ नागरिकों को यरूशलम भेजने की योजना बना रहे हैं। हमारे

वरिष्ठ नागरिकों के लिए तीर्थयात्रा मुक्त हो सकती है, लेकिन इस पर बाद

में काम करने की जरूरत है।’ बता दें कि नगालैंड में बीजेपी क्षेत्रीय दल

नेशनलिस्ट डेमक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी (एनडीपीपी) के साथ मिलकर चुनाव

लड़ रही है।


इस पर तंज कसते हुए एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट किया, बीजेपी ईसाइयों को मुफ्त यात्रा पर भेजने का वादा कर रही है। मैं सही था कि बीजेपी सब्सिडी का इस्तेमाल चुनावी फायदे के लिए करती रहेगी। बीजेपी के हिसाब से 'इंडिया फर्स्ट' का यही मतलब है। जब सब्सिडी खत्म की गई थी तो सीपीएम का कहना था कि हम भी इस तरह की सभी सब्सिडी को खत्म करने के पक्ष में हैं लेकिन इस तरह एकाएक हज सब्सिडी खत्म करना ठीक नहीं है।

बता दें कि फरवरी महीने में नॉर्थईस्ट के तीन राज्यों मेघालय, नगालैंड और त्रिपुरा में विधानसभा चुनाव होने हैं। बता दें कि मेघालय और नगालैंड में ईसाइयों की आबादी अधिक है। मेघालय में जहां 75 फीसदी आबादी ईसाइयों की है वहीं नगालैंड में उनकी तादाद 88 फीसदी है।